Home /News /business /

नए साल में बिजली चोरों की खैर नहीं, सरकार ने नकेल कसने के लिए बनाया खास प्लान

नए साल में बिजली चोरों की खैर नहीं, सरकार ने नकेल कसने के लिए बनाया खास प्लान

अगर आपके इलाके में बिजली (Electricity) चोरी होती हैं तो वहां के कंज्यूमर (Consumer) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

अगर आपके इलाके में बिजली (Electricity) चोरी होती हैं तो वहां के कंज्यूमर (Consumer) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

अगर आपके इलाके में बिजली (Electricity) चोरी होती हैं तो वहां के कंज्यूमर (Consumer) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

    नई दिल्ली. नए साल में बिजली चोरों की शामत आ सकती है. ऊर्जा मंत्रालय ने बिजली वितरण कंपनियों की आर्थिक हालत सुधारने के लिए साल 2020 के लिए नया एक्शन प्लान तैयार किया है. .सूत्रों के मुताबिक सभी राज्यों से उन जिलों कि लिस्ट तैयार करने को कहा गया है जहां पर सबसे ज्यादा बिजली चोरी की घटनाएं हो रही है. अगर आपके इलाके में बिजली (Electricity) चोरी होती हैं तो वहां के कंज्यूमर (Consumer) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. ऊर्जा मंत्रालय (Ministry of Energy) ने राज्यों को उन जिलों की लिस्ट तैयार करने को कहा है जहां सबसे ज्यादा बिजली चोरी की घटनाएं होती हैं.

    साल 2020 में सरकार का विशेष अभियान शुरु करेगी. जिसके तहत राज्य को बिजली चोरी वाले जिलों की लिस्ट तैयार करने को कहा गया है. 15% से ज्यादा वितरण घटने वाले जिलों की लिस्ट तैयार होगी.

    ये भी पढ़ें: SBI Alert! 1 जनवरी से बदल जाएगा ATM से कैश निकालने का ये नियम



    सूत्रों के मुताबिक जहां ज्यादा बिजली चोरी वहां कम सप्लाई किया जायेगा. वहीं जहां बिजली की चोरी कम होगी वहां DISCOM 24 घंटे बिजली देगा. बिजली चोरी ना रोकने पर DISCOM को लोन नहीं मिलेगा. दरअसल बिजली चोरी से DISCOM भारी आर्थिक घाटे में है. घाटे की वजह से DISCOM पर 70,000 करोड़ रुपये का बकाया है जिसे देखते हुए ऊर्जा मंत्रालय ने ये कदम उठाया है.

    (प्रकाश प्रियदर्शी, CNBC आवाज़, संवाददाता)

    ये भी पढ़ें: गुम हो गया है पैन कार्ड तो न हों परेशान, आसानी से ऐसे मिलेगी डुप्लीकेट कॉपी

    Tags: Electricity, Electricity bill, Electricity prices

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर