80 रुपये के पार पहुंचीं टमाटर की कीमत! अचानक एक महीने में तीन गुना क्यों बढ़ गए दाम

80 रुपये के पार पहुंचीं टमाटर की कीमत! अचानक एक महीने में तीन गुना क्यों बढ़ गए दाम
आसमान छू रहा टमाटर का दाम 1 महीने में तीन गुना हुई कीमत, इन शहरों में 80 रुपए

देश के सभी शहरों में टमाटर के दाम आसमान (Tomato Prices Increased) छूने लगे हैं. पिछले कुछ हफ़्तों से टमाटर के भाव में लगातार उछाल आ रहा है. अधिकांश शहरों में खुदरा में टमाटर का भाव 60-70 रुपये किलो तक पहुंच चुका है. आगे इतने रुपए और बढ़ सकता है भाव..

  • Share this:
नई दिल्ली. देश के सभी शहरों में टमाटर के दाम आसमान (Tomato Prices Increased) छूने लगे हैं. पिछले कुछ हफ़्तों से टमाटर के भाव में लगातार उछाल आ रहा है. अधिकांश शहरों में खुदरा में टमाटर का भाव 60-70 रुपये किलो तक पहुंच चुका है. उपभोक्ता मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि इस मौसम में टमाटर के खराब होने की संभावना ज्यादा रहती है, इसलिए कीमत में तेजी आई है. पासवान ने कहा कि फसल का समय नहीं होने के कारण आम तौर पर, जुलाई से सितंबर के दौरान टमाटर की कीमतें अधिक रहती हैं. टमाटर के जल्द खराब होने के गुण के कारण, इसकी कीमतों में उतार-चढ़ाव अधिक होता है. उन्होंने कहा कि आपूर्ति सुधरने के बाद कीमतें सामान्य स्तर पर आ जाएंगी. एक महीने पहले यह करीब 20 रुपये किलो बिक रहा था.

70-80 रुपये प्रति किलो के भाव बेचा जा रहा टमाटर
मंत्रालय के मुताबिक, चेन्नै के अलावा मेट्रो शहरों में टमाटर की खुदरा कीमतें 60 रुपये प्रति किलोग्राम तक बढ़ गई, जो एक महीने पहले लगभग 20 रुपये प्रति किलो थी. कुछ स्थानों पर, टमाटर 70-80 रुपये प्रति किलो के भाव बेचा जा रहा है.

ये भी पढ़ें:- सरकार की इस स्कीम के जरिए आप करा सकते Corona का फ्री इलाज! ऐसे चेक करें नाम
इन शहरों में 70 रुपये टमाटर


गुरुग्राम, गंगटोक, सिलीगुड़ी और रायपुर में टमाटर 70 रुपये प्रति किलो के भाव बिक रहा है, जबकि गोरखपुर, कोटा और दीमापुर में 80 रुपये प्रति किलोग्राम का भाव है. आंकड़ों के अनुसार, उत्पादक राज्यों में भी, हैदराबाद में कीमत मजबूत होकर 37 रुपये प्रति किग्रा है. चेन्नै में 40 रुपये किलो और बेंगलुरु में 46 रुपये किलो है.

ये भी पढ़ें:- रेलवे का सबसे बड़ा कारनामा! जल्द बिना बिजली और डीज़ल के दौड़ेगी ट्रेन

देश में सालाना 1.97 करोड़ लाख टन होता है टमाटर का उत्पादन
उत्तर प्रदेश, राजस्थान, झारखंड, पंजाब, तमिलनाडु, केरल, जम्मू और कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश देश के कम टमाटर उत्पादन करने वाले राज्य हैं. वे आपूर्ति के लिए अधिक उत्पादन करने वाले राज्यों पर निर्भर करते हैं. सरकारी आंकड़ों के अनुसार, देश में सालाना लगभग एक करोड़ 97 लाख टन टमाटर का उत्पादन होता है, जबकि खपत लगभग एक करोड़ 15 लाख टन है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading