Home /News /business /

पाकिस्तान में 180 रुपए किलो हुआ टमाटर, दिखने लगा भारत की कार्रवाई का असर

पाकिस्तान में 180 रुपए किलो हुआ टमाटर, दिखने लगा भारत की कार्रवाई का असर

भारत की कार्रवाई से पाकिस्तान में बढ़ी महंगाई, पाकिस्तान में 180 रु. किलो हुआ टमाटर

भारत की कार्रवाई से पाकिस्तान में बढ़ी महंगाई, पाकिस्तान में 180 रु. किलो हुआ टमाटर

पाकिस्तान में टमाटर ही नहीं आलू समेत खीरे-तोरी जैसी दूसरी सब्जियां भी महंगी हो गई है, इस वजह से वहां के लोगों में जबर्दस्त रोष पैदा हो गया है

    पुलवामा हमले के बाद भारत ने अलग-अलग तरीकों से पाकिस्तान को घेरना शुरू कर दिया है, जिसमें व्यापारिक संबंध भी शामिल हैं. कई ट्रेडर्स और किसानों ने पाकिस्तान को माल सप्लाई करना बंद कर दिया है. पाकिस्तान निर्यात किए जाने वाले सामान पर भारत ने बेसिक कस्टम ड्यूटी को 200 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है, इसका असर ये है कि पाकिस्तान में महंगाई आसमान पर आ गई है. खबरों के मुताबिक पाकिस्तान में ज्यादातर सब्जियां महंगी हो गई है, जिसके बाद वहां अफरातफरी का माहौल है. साउथ एशिया की एक पत्रकार ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर बताया कि पाकिस्तान में टमाटर और दूसरी सब्जियां काफी महंगी हो गई हैं.

    पाकिस्तान में 'लाल' हुआ टमाटर

    पाकिस्‍तान में टमाटर का भाव आसमान छू रहा है. लाहौर में टमाटर 180 रुपए प्रति किलो बिक रहा है. वहीं भारत में टमाटर 10 रुपए किलो मिल रहा है. पाकिस्तान को सबसे ज्यादा फल-सब्जियां सप्लाई करने वाली आजादपुर मंडी में व्यापारियों ने वहां माल नहीं भेजने का फैसला किया. पाकिस्तान की सब्जी मंडी में आलू के दाम में भी इजाफा हुआ है. पाकिस्तान में आलू 10 से 12 किलो से 30-35 रुपए किलो तक पहुंच गया है. खीरे और तोरी 80 रुपए प्रति किलो में बिक रहे हैं.



    गौरतरब है कि पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार ने पाकिस्तान को दिए गए मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया था, जल्द ही अपने इस फैसले के बारे में भारत विश्व व्यापार संगठन (WTO) को सूचना देगा.

    Tags: CRPF, India pakistan, Pulwama attack, Tomato, Trending news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर