रिलायंस इंडस्ट्री बनी भारत की नंबर-1 कंपनी, यहां देखें टॉप-10 की लिस्ट

मार्केट कैप के लिहाज से रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) अब देश की सबसे बड़ी कंपनी बन गई हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में आई तेजी के चलते कंपनी का मार्केट कैप 8 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है. आइए जानें देश की टॉप-10 कंपनियों के बारे में...

News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 2:31 PM IST
रिलायंस इंडस्ट्री बनी भारत की नंबर-1 कंपनी, यहां देखें टॉप-10 की लिस्ट
मार्केट कैप के लिहाज से रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) अब देश की सबसे बड़ी कंपनी बन गई हैं.
News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 2:31 PM IST
मार्केट कैप के लिहाज से रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) अब देश की सबसे बड़ी कंपनी बन गई हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में आई तेजी के चलते कंपनी का मार्केट कैप 8 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है. कंपनी के शेयर में फिलहाल 2 फीसदी की तेजी बनी हुई है. आपको बता दें पिछले साल सरकारी कंपनी इंडियन आयल कार्पोरेशन (IOC) को पीछे छोड़ते हुए RIL देश में सबसे अधिक आमदनी दर्ज करने वाली कंपनी भी बन गई है. पेट्रोलियम से लेकर, रीटेल और टेलीकॉम जैसे विभिन्न सेक्टर्स में फैली आरआईएल ने वित्त वर्ष 2018- 19 में कुल 6.23 लाख करोड़ रुपये का कारोबार किया है. वहीं, आईओसी ने 31 मार्च 2019 को समाप्त वित्त वर्ष में 6.17 लाख करोड़ रुपये का एकीकृत कारोबार किया. जबकि, आईआईएल आईओसी से दो गुना लाभ कमाकर देश की सबसे बड़ी लाभदायक कंपनी भी बन गई.

मार्केट कैप 8 लाख करोड़ रुपये के पार- मंगलवार के कारोबार में कंपनी का शेयर एनएसई (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर करीब 2:15 बजे) पर 2 फीसदी बढ़कर 1278 रुपये के भाव पर पहुंच गया. इससे कंपनी की मार्केट कैप 8.07 लाख करोड़ रुपये हो गई है. वहीं, दूसरे नंबर पर अब टीसीएस है.

ये भी पढ़ें-कमाई के मामले में इस कंपनी को पीछे छोड़ रिलायंस इंडस्ट्रीज बनी देश में नंबर-1


Loading...

देश की टॉप-10 कंपनियों की लिस्ट (मार्केट कैप के लिहाज से मनीकंट्रोल पर जारी लिस्ट)

(1) रिलायंस इंडस्ट्रीज
(2) टीसीएस (टाटा कंस्लटेंसी सर्विसेस)
(3) HDFC बैंक
(4) HDFC लिमिटेड
(5) HUL (हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड)
(6) ITC (इंडियन टोबैको कंपनी)
(7) SBI (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया)
(8) इन्फोसिस
(9) कोटक महिंद्रा बैंक
(10) ICICI बैंक



कमाई के मामले में रिलायंस हैं नंबर-1-बढ़ते कारोबार के बीच रिलायंस का शुद्ध लाभ 2018- 19 में 39,588 करोड़ रुपये रहा, जबकि इंडियन ऑयल ने समाप्त वित्त वर्ष में 17,274 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है. (ये भी पढ़ें-सिर्फ 50 हजार में शुरू करें ये बिजनेस, सरकार देगी बाकी पैसा)

>> रिलायंस की कुल आय में उसके खुदरा, दूरसंचार और डिजिटल सर्विस से आने वाला रेवेन्यू सबसे अधिक है. इसीलिए रिलायंस की कमाई में बढ़ोतरी हुई है.

>> मजबूत रिफानिंग मार्जिन और मजबूत खुदरा कारोबार के चलते वित्त वर्ष 2019 में रिलायंस ने 44 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की है.

>> साथ ही वित्त वर्ष 2010 और वित्त वर्ष 2019 के बीच 14 फीसदी की सालाना बढ़ोतरी दर्ज की है. (ये भी पढ़ें-PM से जुड़े एक आसान सवाल का जवाब दें, 30% तक कैशबैक पाएं)

>> इसके विपरीत, आईओसी का कारोबार वित्त वर्ष 2019 में 30 फीसदी और वित्त वर्ष 2015 और 2019 के दौरान 6.3 फीसदी तक ही बढ़ा है.

डिस्क्लेमरन्यूज़18 हिंदी रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2019, 2:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...