लाइव टीवी

5 प्वाइंट्स में जानिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बड़े ऐलान

News18Hindi
Updated: September 14, 2019, 11:50 PM IST
5 प्वाइंट्स में जानिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बड़े ऐलान
आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) से निपटने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने आज एक बार फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई बड़ी घोषणाएं कीं. साथ ही, उन्होंने अपनी पिछली घोषणाओं के बारे में भी ब्यौरा दिया. उन्होंने कहा कि महंगाई दर सीमित दायरे में है.

आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) से निपटने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने आज एक बार फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई बड़ी घोषणाएं कीं. साथ ही, उन्होंने अपनी पिछली घोषणाओं के बारे में भी ब्यौरा दिया. उन्होंने कहा कि महंगाई दर सीमित दायरे में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 14, 2019, 11:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ​आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) से निपटने के लिए सरकार लगातार कई कदम उठा रही है. इसी सिलसिल में आज एक बार फिर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कई बड़ी घोषणाएं कीं। वित्त मंत्री (Finance Minister) ने कहा कि वो 19 सितंबर को सभी बैंकों के प्रमुखों से मिलेंगी. उन्होंने कहा कि महंगाई दर (Inflation) सीमित दायरे में है. यह साफ दर्शाता है कि इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (Industrial Production) अब रिवाइव हो रहा है. प्रेंस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में वित्त मंत्री ने अपने पिछले दो बार की घोषणाओं के बारे में जानकारी दीं. उन्होंने बताया कि 23 अगस्त और 30 अगस्त को की गई घोषणाओं को लेकर अभी तक क्या—क्या काम किया गया है.

आइए जानते हैं कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज क्या बड़ी घोषणएं कीं.

1. फेसलेस टैक्स एसेसमेंट: वित्त मंत्री ने जो पहला ऐलान किया उसमें उन्होंने फेसलेस टैक्स एसेसमेंट की बात कही. उन्होंने आज बताया कि ई—एसेसमेंट को ले​कर की गई घोषणाओं को नोटिफाई कर दिया गया है. इसे विजयदशमी से लागू भी कर दिया जायेगा. टैक्स को लेकर लोगों को प्रताड़ना कि शिकायत को दूर करने के लिए इस व्यवस्था में किसी भी अधिकारी की भूमिका नहीं होगी. उन्होंने कहा कि छोटी—मोटी गड़बड़ियों को प्रॉजिक्यूशन के स्तर पर डील नहीं किया जायेगा. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि इनकम टैक्स एसेसमेंट में टेक्नोलॉजी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.



ये भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने एक्सपोर्ट और हाउसिंग सेक्टर के लिए किए कई बड़े ऐलान

2. निर्यात पर जोर: आज के प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार ने निर्यात को बढ़ाने देने की बात पर भी जोर दिया. वित्त मंत्री ने घोषणा किया कि इंटरेस्ट इक्वलाइजेशन स्कीम को 3 फीसदी से बढ़ाकर 5 फीसदी कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि इस माह के अंत तक पूरी तरह से ऑटोमैटिक जीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट ​​रिफंड सिस्टम को लागू कर दिया जायेगा. लघु एवं मध्यम उद्योगों को आसानी से इनपुट टैक्स क्रेडिट रिफंड मिल सकेगा.

3. अफोर्डेबल हाउसिंग में राहत: सरकार ने आज ऐलान किया कि एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी की मदद से अब अधिक इंश्योरेंस कवर दिया जायेगा. इस फैसले के बाद सरकार की तिजोरी पर प्रति साल 1700 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. एक्सटर्नल कमर्शियल गाइडलाइन फॉर अफोर्डेबल हाउसिंग में राहत दी जाएगी. वित्त मंत्री ने कहा कि बजट में कई कदम उठाए जा चुके हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1.95 करोड़ लोगों को फायदा हुआ है.
Loading...



ये भी पढ़ें: हाउजिंग प्रॉजेक्ट पर बड़ी राहत, वित्‍त मंत्री ने किया 10 हजार करोड़ रुपये की मदद का ऐलान

4. सालाना मेगा शॉपिंग फेस्टिवल: वित्त मंत्री ने आज एक खास ऐलान किया, जिसमें उन्होंने कहा कि दुबई की तर्ज पर भारत में भी एक सालाना मेगा शॉपिंग फेस्टि​वल आयोजित किया जाना चाहिए. इसमें जेम्स एंड ज्वलेरी, हैंडीक्रफ्ट, योगा, टुरिज्म जैसे थीम रखे जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह के मेगा शॉपिंग फेस्टि​वल के आयोजन से टेक्सटाइल व चमड़े के उद्योग को बूस्ट मिल सकेगा. साथ ही योगा टूरिज्म को भी प्रोमोट करने में मदद मिलेगी.

5. स्पेशल विंडो के ​जरिये फंडिंग: सरकार ने आज ऐलान किया कि स्पेशल विंडो के माध्यम से उन हाउसिंग प्रोजेक्ट्स को फंड मुहैया कराया जायेगा, जो​कि फंड की कमी से पूरे नहीं हो सके हैं और नॉन—एनपीए की कैटेगरी में आते हैं और नॉन एनसीएलटी प्रोजेक्ट्स हैं। इसे सरकार की तरफ से 10 हजार करोड़ रुपये का फंंड मुहैया कराया जायेगा. इस विंडो को मार्केट के प्रोफेशनल्स चलाएंगे. सरकार के इस कदम से करीब 3 से 3.5 लाख प्रोजेक्ट को बूस्ट करने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने एक्सपोर्ट बढ़ाने के लिए नीति में किया बदलाव, 1 जनवरी से RoDTEP होगा लागू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 14, 2019, 4:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...