FAITH का केंद्र सरकार से अनुराेध, हॉस्पिटैलिटी-टूरिज्‍म सेक्टर में हर उम्र के लाेगाें काे लगाई जाए कोरोना वैक्सीन

प्रतीतात्मक तस्वीर

प्रतीतात्मक तस्वीर

काेराेना वायरस महामारी के चलते वर्ष 2020 में भारत के हॉस्पिटैलिटी व टूरिज्म सेक्टर काे करीब 15 लाख कराेड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है. इसके बाद इंडस्ट्री काे इस साल वापसी करने के लिए सरकार से मदद की उम्मीद है.

  • Share this:

नई दिल्ली. फेडरेशन ऑफ एसाेसिएशंस इन इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी (FAITH) ने केंद्र सरकार से अनुराेध किया है कि टूरिज्म, ट्रेवल और हॉस्पिटैलिटी स्टाफ के हर उम्र के लाेगाें काे फ्रंटलाइन वर्कर के ताैर पर काेविड वैक्सीन (Covid-19 vaccine) लगाने की प्रक्रिया भी शुरू की जाए. फेथ ने इसे लेकर सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) और स्वास्थ्य मंत्रालय काे पत्र लिखकर राज्य सरकाराें काे एडवाइजरी जारी करने को कहा है.


FAITH ने कहा कि भारतीय पर्यटन वर्ष 2021 के पीक हॉलीडे सीजन की तरफ बढ़ रहा है, जहां डॉमेस्टिक टूरिज्म से ही 60 प्रतिशत बिजनेस आता है. वहीं, अक्टूबर से मार्च इनबाउंड ट्रेवल के लिए पीक सीजन हाेता है, जहां 70 प्रतिशत से ज्यादा बिजनेस हाेता है. उन्हाेंने कहा वैक्सीनेशन काे लेकर दिए जाने वाले निर्देश से एक बड़ा संदेश जाएगा कि हम विजिटर्स के लिए सुरक्षित तरीके के साथ तैयार हैंं.


15 लाख कराेड़ रुपये का नुकसान
काेराेना वायरस महामारी के चलते वर्ष 2020 में भारत के हॉस्पिटैलिटी व टूरिज्म सेक्टर काे करीब 15 लाख कराेड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है. इसके बाद इंडस्ट्री काे वर्ष 2021 में रिकवर करने के लिए सरकार की मदद की उम्मीद है. काेराेना वायरस की दूसरी लहर के चलते विभिन्न राज्याें में फिर से लग रहे लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू ने फिर टूरिज्म इंडस्ट्री के माथे पर बल ला दिया है. अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के बंद हाेने के मकल घरेलू पर्यटन प्रमुख क्षेत्र है, जहां से इंडस्ट्री काे उम्मीद है. वैक्सीनेशन से उम्मीद यही है कि लाेगों में फिर पहले की तरह आत्मविश्वास आ जाएगा, जिससे वे वापस हॉलीडे पर जाना शुरू कर सकेंगे.  


ये भी पढ़ें - Alert: हैकर्स LinkedIn के जॉब ऑफर्स में भेज रहे हैं Malware, देखें कहीं आपने भी तो नहीं खोलीं ये Zip फाइल्‍स



लगातार बढ़ रहे है मामले 



भारत में हर दिन काेराेना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, जिसके चलते राज्य अपने-अपने तरीके से कर्फ़्यू लगा रहे हैं. भारत में बुधवार काे काेराेना के 1,15,736 मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कहा जा रहा है कि काेराेना की दूसरी लहर चल रही है. महाराष्ट्र में स्थिति सबसे ज्‍यादा खराब है. बुधवार काे यहां 59,907 नए काेराेना वायरस के मरीज मिले हैं. इसके बाद महाराष्ट्र, कर्नाटक जैसे राज्याें ने पहले के नियमाें के अलावा राज्य में नए प्रतिबंध लगाए हैं. पंजाब जैसे अन्य राज्याें ने पूरे राज्य में प्रतिबंधाें का विस्तार किया है. दिल्ली ने भी हाल में संक्रमण बढ़ने के साथ ही रात 10 बजे से नाइट कर्फ्यू लगाया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज