पर्यटन मंत्री ने किया गुरुवायुर में पर्यटन सुविधा केंद्र का शुभारंभ, इससे पर्यटकों को मिलेगी ये सुविधाएं

पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने केरल के गुरुवायुर में पर्यटन सुविधा केंद्र का शुभारंभ किया.
पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने केरल के गुरुवायुर में पर्यटन सुविधा केंद्र का शुभारंभ किया.

पर्यटन मंत्रालय (Ministry of Tourism) ने गुरुवायुर के विकास के लिए 45.36 करोड़ रुपये का बजट (Budget) मंजूर किया था. जिसमें से 11.57 करोड़ रुपये की लागत से बने पर्यटन सुविधा केंद्र (Tourist facility Center) का शुभारंभ किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 8:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए केरल के गुरुवायुर में पर्यटन सुविधा केंद्र का शुभारंभ किया. इस कार्यक्रम में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन और केरल सरकार के सहकारिता, पर्यटन मंत्री कडकमपल्ली सुरेंद्रन भी शामिल हुए. बता दें पर्यटन मंत्रालय ने 2014-15 में देश के चुनिंदा पर्यटन स्थल के विकास की योजना बनाई थी. इस योजना को प्रसाद योजना नाम दिया गया था. इसी के तहत केरल के गुरुवायुर में पर्यटन सुविधा केंद्र का शुभारंभ किया गया है.
अंतर्राष्ट्रीय मानकों के हिसाब से हुआ विकास- केरल के गुरुवायुर में पर्यटन सुविधा केंद्र का विकास अंतरराष्ट्रीय मानकों के हिसाब से किया गया है. केरल सरकार ने केंद्र सरकार की प्रसाद योजना की तारीफ करते हुए कहा कि, गुरुवायुर में पर्यटन मंत्रालय ने पर्यटकों की जरूरत के हिसाब से विकास किया है. वहीं पर्यटन मंत्रालय ने राज्य सरकार को पर्यटन को बढ़ावे देने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया.

यह भी पढ़ें: ई-ग्रामीण स्टोर्स को मिली बड़ी सफलता, 100 करोड़ पहुंच टर्नओवर, जानें इसके बारे में सबकुछ
जानें प्रसाद योजना- पर्यटन मंत्रालय ने 2014-15 में तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक, हेरिटेज ऑग्मेंटेशन ड्राइव (प्रसाद) राष्ट्रीय मिशन की शुरुआत की थी. इस योजना में देश के तीर्थ और पौराणिक स्थलों की पहचान करके वहां बुनियादी सुविधाओं जैसे रेल, सड़क और जल परिवहन जैसे सुविधाओं का विकास किया जाना था.  प्रसाद योजना में पर्यटन स्थल के आसपास एटीएम/मुद्रा विनिमय, परिवहन के पर्यावरण-अनुकूल तरीके, ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों के साथ क्षेत्र प्रकाश और रोशनी, पार्किंग, पीने का पानी, शौचालय, क्लॉक रूम, वेटिंग रूम, प्राथमिक चिकित्सा केंद्र, क्राफ्ट बज़ार/हॉट/स्मारिका दुकानें/कैफेटेरिया, रेन शेल्टर, दूरसंचार सुविधाएं, इंटरनेट कनेक्टिविटी आदि का भी विकास किया जाता है.
यह भी पढ़ें: IGI एयरपोर्ट पर अब घरेलू यात्री भी करा सकते हैं कोरोना टेस्‍ट, जानें कितना लगेगा चार्ज





गुरुवायुर के विकास की योजना बनी 2017 में- इस योजना के तहत 2017 में गुरुवायुर का चुना गया. पर्यटन मंत्रालय ने गुरुवायुर के विाकस के लिए 45.36 करोड़ रुपये का बजट मंजूर किया. जिसमें से 11.57 करोड़ रुपये की लागत से पर्यटन सुविधा केंद्र का शुभारंभ किया गया है. इस परियोजना के तहत अभी गुरुवायुर में सीसीटीवी नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर, टूरिस्ट एमेज़न्स सेंटर और मल्टी लेवल कार पार्किंग का विकास होना बाकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज