लाइव टीवी

ट्रेड वॉर से बढ़ी अनिश्चित्तता, वैश्विक आर्थिक नरमी से निपटने के लिये सम्मिलित कदम उठाना होगा: वित्त मंत्री

भाषा
Updated: October 19, 2019, 8:58 PM IST
ट्रेड वॉर से बढ़ी अनिश्चित्तता, वैश्विक आर्थिक नरमी से निपटने के लिये सम्मिलित कदम उठाना होगा: वित्त मंत्री
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने विश्वबैंक (World Bank) और मुद्राकोष की सालाना बैठक में कहा कि इस समय दुनियाभर में चल रही आर्थिक नरमी (Economic Slowdown)​ के पास से निपटने के लिये सम्मिलित कदम उठाने और वैश्विक वृद्धि के लिये बहुपक्षवाद की भावना को जगाने की जरूरत है.

  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने कहा कि व्यापार युद्ध (Trade War) तथा संरक्षणवाद से अनिश्चितताएं पैदा हुई हैं और अंतत: इसका असर पूंजी के प्रवाह और वस्तुओं तथा सेवाओं के व्यापार पर पड़ेगा. वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) की ओर से शनिवार को जारी एक बयान में कहा कि सीतारमण ने विश्वबैंक (World Bank) और मुद्राकोष की वाशिंगटन में सालाना बैठक में कहा कि इस समय दुनियाभर में चल रही आर्थिक नरमी (Economic Slowdown) के पास से निपटने के लिये सम्मिलित कदम उठाने और वैश्विक वृद्धि के लिये बहुपक्षवाद की भावना को जगाने की जरूरत है.

आर्थिक नरमी को गंभीर बनने से रोकना होगा
वित्त मंत्री ने शुक्रवार को वाशिंगटन में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) और विश्वबैंक के समापन सत्र में भारतीय प्रतिनिधिमंडल (Indian Representative) का नेतृत्व किया. उन्होंने कहा कि इस समय वैश्विक व्यापार (Global Trade) के एकीकरण की जरूरत, भू-राजनीतिक अनिश्चितता तथा कर्ज के उच्च स्तर की चुनौतियों से निपटने के लिए सशक्त वैश्विक समन्वय की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘‘हमें इस चीज का इंतजार नहीं करना चाहिये कि आर्थिक नरमी एक गंभीर बन जाए.’’

ये भी पढ़ें: देश में सिर्फ 9 लोगों की सलाना कमाई 100 करोड़ रुपये से ज्यादा! इनकम टैक्स के आंकड़ों में हुए कई अहम खुलासे


स्टेबलक्वॉइन्स पर भी चर्चा
उन्होंने IMF और विश्वबैंक की विकास समिति की दोपहर के भोज के समय हुई चर्चा में भी हिस्सा लिया. सीतारमण ने इसके अलावा जी20 देशों के वित्त मंत्रियों व केंद्रीय बैंकों (Central Banks) के गवर्नरों की बैठक में भी भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया. इस बैठक में अंतरराष्ट्रीय कराधान तथा ‘स्टेबलक्वॉइन्स’ यानी मजबूत सिक्का की अवधारणा पर चर्चा हुई. स्टेबलक्वॉइन्स का आशय आभाषी मुद्रओं को किसी भरोसेमंद सम्पत्ति के मूल्य से जोड़ना है.
Loading...

डिजिटलीकरण से उभरने वाली चुनौतियों के लिए सरल समाधान की जरूरत
उन्होंने डिजिटलीकरण (Digitization) के कारण उभर रहीं कर चुनौतियों को लेकर समान राय बनाने से संबंधित मुद्दे के सत्र में कहा कि गठजोड़ तथा लाभ के आवंटन की चुनौतियों पर गंभीरता से ध्यान देना चाहिये. उन्होंने कहा, ‘‘एक ऐसे समाधान की जरूरत है जो लागू करने में सरल हो, संचालन में सरल हो तथा अनुपालन में सरल हो.’’ उन्होंने रूस के उप प्रधानमंत्री एवं वित्तमंत्री समेत कई अन्य लोगों से द्विपक्षीय मुलाकातें भी कीं.

ये भी पढ़ें: SBI के करोड़ों ग्राहकों को लगेगा झटका! 1 नवंबर से होने जा रहा बड़ा बदलाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 8:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...