Home /News /business /

कोरोना से लड़ने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने दिया खरीदारी का ऐसा सुझाव, विरोध में उतर पड़े व्‍यापारी

कोरोना से लड़ने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने दिया खरीदारी का ऐसा सुझाव, विरोध में उतर पड़े व्‍यापारी

कोरोना से बचाव के लिए ऑनलाइन खरीदारी को प्रमोट करने वाले स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अभियान पर अब व्‍यापारियों ने विरोध जताया है.

कोरोना से बचाव के लिए ऑनलाइन खरीदारी को प्रमोट करने वाले स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अभियान पर अब व्‍यापारियों ने विरोध जताया है.

कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (Cait) ने आज केंद्रीय मंत्री मंडाविया को भेजे गए एक पत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय के एक विज्ञापन अभियान पर कड़ी आपत्ति और नाराजगी जताई है. इसमें लोगों से कोविड से सुरक्षा के लिए ऑनलाइन खरीदारी करने का आग्रह किया गया है. जिस पर कैट ने कड़ा विरोध दर्ज करते हुए इसे वापस लेने की मांग की है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. भारत में त्‍यौहार शुरू हो चुके हैं. वहीं करवाचौथ (Karvachauth) से लेकर दिवाली (Diwali) जैसे त्‍यौहारों और उसके बाद शुरू होने वाली शादियों को लेकर बाजारों में भी लंबे समय के बाद रौनक देखी जा रही है. पिछले साल आए कोरोना और फिर इस साल आई दूसरी लहर में मची तबाही के बाद अब कोरोना (Corona) के मामले काफी कम हो गए हैं. ऐसे में लोग बाजारों में भी खरीदारी के लिए निकल रहे हैं. हालांकि इस सबके बीच केंद्र और राज्‍य सरकारों के अलावा स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ लगातार लोगों को चेतावनी दे रहे हैं कि घर से बाहर निकलते समय सावधानी बरतें और कोरोना के नियमों का पालन करें.

    कोरोना से चल रही लड़ाई में वैक्‍सीनेशन (Vaccination) के साथ ही लगातार कोविड अनुरूप तौर तरीके अपनाने के लिए सुझाव दिए जा रहे हैं. इसी क्रम में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से कोविड से बचाव के लिए बताए गए खरीदारी के तरीके पर अब बवाल हो गया है. ट्विटर पर मंत्रालय की ओर से किए गए एक ट्वीट के जवाब में व्‍यापारी अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं साथ ही कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (Cait) ने केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मनसुख मंडाविया (Manshukh Mandaviya) से इस ट्वीट को वापस लेने की मांग की है.

    #Unite2FightCorona #IndiaFightsCorona #TyoharonKeRangCABKeSang pic.twitter.com/M2WzSSWKDT

    कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आज केंद्रीय मंत्री मंडाविया को भेजे गए एक पत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय के एक विज्ञापन अभियान पर कड़ी आपत्ति और नाराजगी जताई है. इसमें लोगों से कोविड से सुरक्षा के लिए ऑनलाइन खरीदारी करने का आग्रह किया गया है. जिस पर कैट ने कड़ा विरोध दर्ज करते हुए कहा कि उक्त विज्ञापन अभियान सीधे तौर पर देश के 8 करोड़ से अधिक छोटे व्यवसायों पर आघात करने वाला है और उन के खिलाफ है जबकि छोटे व्यापारी राष्ट्र की आवश्यकता के समय पर महत्वपूर्ण सेवाएं देने से कभी पीछे नहीं हटते हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय का यह विज्ञापन अभियान सीधे तौर पर भारत के संविधान में निहित मौलिक अधिकार का उल्लंघन हैं जो किसी भी प्रकार के भेदभाव को रोकता है जबकि मंत्रालय का यह अभियान ऑनलाइन एवं ऑफलाइन व्यापारियों में भेदभाव करता है.

    कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने मंडाविया को भेजे पत्र में कहा कि भारत का वर्तमान ऑनलाइन व्यवसाय विदेशी वित्त पोषित ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा अस्वस्थ व्यापारिक नीतियों द्वारा अत्यधिक दूषित किया गया है और इन कंपनियों ने देश के कानूनों और नियमों की अवहेलना करने और अपने प्रभुत्व का दुरुपयोग करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. वहीं अब स्वास्थ्य मंत्रालय का यह अभियान विदेशी ई-कॉमर्स कंपनियों की क़ानून एवं नियमों का पालन न करने का एक तरह से समर्थन करता है जिसके द्वारा वे लगातार नियमों की अवहेलना करते हुए व्यापार में और अधिक मजबूत होंगे. इतना ही नहीं वे न केवल व्यापारियों को बल्कि अंतिम उपभोक्ताओं को भी नुकसान पहुंचाएंगे.

    कैट ने कहा कि जिन अधिकारियों ने भी इस अभियान की रूपरेखा बनाई हैं उन्होंने इन ज्वलंत मुद्दों को नजरअंदाज किया गया है जिससे स्वास्थ्य मंत्रालय का यह कदम देश के व्यापारियों के ,लिए अत्यधिक अपमानजनक है. यह एक तरीके से ऑफ़लाइन व्यापार समुदाय के लिए बहुत विनाशकारी साबित होगा और देश के खुदरा विक्रेताओं को हतोत्साहित कर उनके व्यापार पर सीढ़ी चोट पहुंचाएगा. पिछले साल और इस साल दोनों समय में कोविड के वक्त सरकार के साथ मजबूती से खड़े रहने वाले ऑफलाइन व्यापारियों की इस अभियान के द्वारा घोर उपेक्षा की गई है. इसलिए इसे रोका जाए.

    Tags: Confederation of All India Traders, Corona Virus, Health Minister Mansukh Mandaviya

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर