लाइव टीवी

Amazon-Flipkart के खिलाफ 13 नवंबर से व्यापारी शुरू करेंगे धरना, मार्च और रैली: CAIT का ऐलान

News18Hindi
Updated: November 5, 2019, 12:10 PM IST
Amazon-Flipkart के खिलाफ 13 नवंबर से व्यापारी शुरू करेंगे धरना, मार्च और रैली: CAIT का ऐलान
20 नवंबर को देश के सभी राज्यों में लगभग 200 शहरों में धरने आयोजित किए जाएंगे

CAIT के महासचिव, प्रवीन खंडेलवाल का कहना है कि इस आंदोलन में व्यापारियों साथ-साथ ट्रांसपोर्ट, छोटे उद्योग, किसान, हॉकर्स, उपभोक्ता एवं स्वयं उद्यमियों सहित स्वदेशी जागरण मंच को भी जोड़ा जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2019, 12:10 PM IST
  • Share this:
 नई दिल्ली. बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) और फ्लिपकार्ट (Flipkart) के खिलाफ देश के बड़े व्यापारी संगठन कैट यानी कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने ई-कॉमर्स कंपनियों के खिलाफ देशभर में बड़े आंदोलन की घोषणा की है. CAIT (Confederation of All India Traders) के मुताबिक, ई-कॉमर्स कंपनियां रिटेल बिजनेस को पूरी तरह से बर्बाद करने पर अमदा है. इसीलिए  इस मुद्दे को देश के व्यापारियों के कारोबार के लिए बेहद घातक बताते हुए CAIT ने यह लड़ाई शुरू करने की ठानी है.

Amazon-Flipkart के खिलाफ देशव्यापी धरना 13 नवंबर से- कैट का कहना है कि अमेजन (Amazon) और फ्लिपकार्ट (Flipkart) अपने पोर्टल पर पहले की तरह ही लागत से भी कम मूल्य पर माल बेच रहे है. साथ ही, प्रोडक्ट्स पर भारी दे रहे हैं.

>> पोर्टल पर होने वाली बिक्री को नियंत्रित करना, अपनी पसंद के विक्रेताओं को अपने पोर्टल पर ज्यादा ऑर्डर देना और बाजार में कीमतों को प्रभावित करने से ई-कॉमर्स कंपनियां, पीछे नहीं हटी हैं. इसलिए यह मुद्दा देश के रिटेल व्यापार के लिए बेहद बड़ा और गम्भीर होता जा रहा है.

ये भी पढ़ें-RBI ने जारी किए बैंकों के अधिकारियों की सैलरी को लेकर नए नियम 

>> CAIT के महासचिव,  प्रवीन खंडेलवाल का कहना है कि इस आंदोलन में व्यापारियों साथ-साथ ट्रांसपोर्ट, छोटे उद्योग, किसान, हॉकर्स, उपभोक्ता एवं स्वयं उद्यमियों सहित स्वदेशी जागरण मंच को भी जोड़ा जाएगा. कैट का कहना है कि यह लड़ाई देश के 7 करोड़ व्यापारियों के अस्तित्व को बचाने की है.

CAIT के महासचिव, प्रवीन खंडेलवाल


>> आपको बता दें कि इस मुद्दे पर कैट केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल को पहले ही इन ई-कॉमर्स कंपनियों के खिलाफ शिकायत कर चुकी है.
Loading...

>> वाणिज्य मंत्रालय ने अमेजन एवं फ्लिपकार्ट से जवाब तलब भी किया है. वहीं, कैट ने राजस्थान हाई कोर्ट की जोधपुर बेंच में भी इस मुद्दे पर एक याचिका डाली है.

>> 13 नवंबर को कैट के व्यापारी प्रतिनिधिमंडल देशभर में लोकसभा और राज्य सभा के सभी सांसदों को ज्ञापन देंगे. 20 नवंबर को देश के सभी राज्यों में लगभग 200 शहरों में धरने आयोजित किए जाएंगे.

>> 25 नवंबर को देश के 500 से अधिक जिलों में व्यापारी मार्च निकाले जाएंगे और जिला कलेक्टर को प्रधानमंत्री के नाम के ज्ञापन दिए जाएंगे.

>> ई-कॉमर्स कंपनियों के अनैतिक व्यापार के खिलाफ देश के लगभग 1 हजार से अधिक शहरों में विरोध मार्च निकाले जाएंगे.

>> 2 दिसंबर को देश के सभी राज्यों की राजधानियों में व्यापारी रैली आयोजित होंगी, जिसमें राज्य भर के हजारों व्यापारी शामिल होंगे. उसी दिन कैट प्रतिनिधिमंडल सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को ज्ञापन देगा.

ये भी पढ़ें-सरकारी कर्मचारियों को भी करनी पड़ सकती है 9 घंटे की शिफ्ट, हो रहा है बड़ा बदलाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 11:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...