Home /News /business /

COVID-19 के बाद बदल जाएगा इकोनॉमी क्लास में ट्रैवल करने का अंदाज, जानिए क्या होंगे बदलाव

COVID-19 के बाद बदल जाएगा इकोनॉमी क्लास में ट्रैवल करने का अंदाज, जानिए क्या होंगे बदलाव

सोशल डिस्टेंसिंग के लिए विमान कंपनियां नए सीट डिजाइन को अपना सकती हैं.

सोशल डिस्टेंसिंग के लिए विमान कंपनियां नए सीट डिजाइन को अपना सकती हैं.

कोरोना वायरस महामारी के बाद विमान कंपनियों पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए व्यवस्था करने का दबाव होगा. इसी को देखते हुए विमान इंटीरियन डिजाइर करने वाली कंपनी दो डिजाइन पेश किया है, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग को बढ़ावा मिल सकता है.

    नई दिल्ली. अब लगभग साफ हो चुका है कोरोना वायरस महमारी (Coronavirus Pandemic) के बाद हवाई यात्रा करना एक नया अनुभव लेकर आएगा. सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) को बढ़ावा देने के लिए एयरलाइंस में मिडिल सीट्स को हटाया जा सकता है. एयरप्लेन्स के इंटीरियर डिजाइन पर काम करने वाली एक कंपनी नए कॉन्सेप्ट्स लेकर आई है, जिसके तहत इकोनॉमी क्लास में कुछ संभावित बदलाव किए जा सकते हैं.

    नए तरीके से डिजाइन किए गए सीट्स
    इटालियन डिजाइनर्स Aviointeriors ने इकोनॉमी क्लास के लिए दो नए सीट डिजाइन कॉन्सेप्ट भी पेश किए हैं. इस डिजाइन को कुछ इस तरह से तैयार किया गया ताकि नई जरूरतों के आधार पर दो पैसेंजर्स के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा सके. इस डिजाइन की सबसे खास बात है कि इसमें ऑनबोर्ड स्पेस में ज्यादा कुछ बदलाव नहीं किया गया है.

    यह भी पढ़ें: Ola ने दिल्ली में नॉन-कोविड मरीजों के लिए शुरू की ये सुविधा, फ्री में मिलेंगे

    क्या है नए डिजाइन की खूबी
    इस कंपनी ने एक डिजाइन का नाम रोम के प्राचीन भगवान 'Janus' के नाम पर रखा है, जिसमें एक सीट पर ही दो तरफ से बैठने की सुविधा होगी और इसकी सफाई भी आसानी से की जा सकेगी. अगर इस कॉन्सेप्ट को एयरलाइन कंपनियां अपनाती हैं तो इन सीट्स को तैयार करने के​लिए सु​रक्षित मैटेरियल का भी इस्तेमाल किया जाएगा ताकि हाइजिन का भी ख्याल रखा जा सके.

    Source: Aviointeriors


    क्या है दूसरा डिजाइन?
    प्रमुख तौर पर यह 3 पंक्तियों वाली सीट का सेटअप होगा जिसमें बीच में बैठने वाला पैसेंजर विपरित दिशा में बैठेगा. वहीं, इस पंक्ति में आइल और विंडो सीट पर बैठने वाले पैसेंजर एक दिशा में बैठेंगे. इस सेटअप की मदद से दो पैसेंजर्स के बीच पर्याप्त दूरी होगी. इसके अलावा दूसरे डिजाइन में हर सीट पर तीन तरफ से फिक्स्ड शील्ड भी लगाया जाएगा. ये शील्ड ट्रांसपेरेंट मैटेरियल से बनाए जाएंगे.

    यह भी पढ़ें: TV-फ्रिज मोबाइल की क्या अब ऑनलाइन हो सकती है खरीदारी? जानिए सरकार का आदेश

    पड़ सकता है नियामकीय पेंच
    हालांकि, अभी तक इस कंपनी ने साफ नहीं किया है कि इस डिजाइन की सीट्स को पूरे केबिन में लगाया जाएगा या नहीं. हालांकि, एक बात तो साफ है कि निकासी वाली पंक्ति में इस तरह की डिजाइन का इस्तेमाल रेग्युलेटरी नियमों की वजह से नहीं किया जा सकेगा. दरअसल, नियमों के मुताबिक एक्जिट पंक्ति में दो सीट्स के बीच में कम से कम 7 इंच का अंतर होना अनिवार्य होता है.

    दो डिजाइन में कौन बेहतर
    Janus सीट डिजाइन के लिए विमानों की मौजूदा केबिन को पूरी तरह से बदलने की जरूरत होगी. लेकिन इस कंपनी ने एक ऐसा डिजाइन किया है, जिसमें स्टैंडर्ड एयरप्लेन सीट्स में भी ​जरूरी बदलाव किया जा सकता है. हालांकि, ध्यान देने वाली बात यह भी है कि इस डिजाइन में मौजूदा सोशल डिस्टेंसिंग गाइडलाइंस का पूरी तरह से पालन नहीं किया जा सकेगा.

    यह भी पढ़ें: कोरोना संकट से निपटने के लिए 27 अप्रैल के बाद दूसरे राहत पैकेज का ऐलान संभव

    एयरलाइंस दिखा रहीं ​दिलचस्पी
    इस डिजाइन में शील्ड की मदद से दो पैसेंजर्स के बीच एक बैरियर मौजूद होगा. CNN ने इस कंपनी के हवाले से अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि कुछ विमान कंपनियां इन दोनों डिजाइन में दिलचस्पी दिखा रही हैं. फिलहाल यह कंपनी प्रोटोटाइप तैयार करने में जुटी हुई है.

    कितना लगेगा समय
    एवियोइंटीरियर्स ने बताया कि जब एक बार ​सभी डिजाइन फेज को तैयार कर लिया जाएगा, उसके बाद इन्हें एविएशन रेग्युलेटर्स से मंजूरी लेनी होगी. कंपनी का कहना है कि अगले 8 से 11 महीनों में इस डिजाइन को रोलआउट किया जा सकता है.

    यह भी पढ़ें: RBI का लॉकडाउन के बीच बड़ा ऐलान, बैंक अपने ग्राहकों को देंगे ये खास सुविधाundefined

    Tags: Airlines, Business news in hindi, Coronavirus, Coronavirus pandemic

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर