लाइव टीवी

ईद से पहले इस इस्लामिक देश ने लिया बड़ा फैसला, अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए उठाया ये कदम

News18Hindi
Updated: May 21, 2020, 7:17 PM IST
ईद से पहले इस इस्लामिक देश ने लिया बड़ा फैसला, अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए उठाया ये कदम
तुर्की रमदान

ईद से ठीक पहले इस्लामिक देश तुर्की (Turkey) ने ब्याज दरों में बड़ी कटौती की है. जुलाई 2019 के बाद से यह लगातार नौवी कटौती है. यहां के केंद्रीय बैंक का कहना है कि अब उनकी अर्थव्यवस्था कोरोना के असर से उबर रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. ईद से ठीक पहले तुर्की के केंद्रीय बैंक (Central Bank, Tukey) ने कोरोना वायरस के मद्देनजर अर्थव्यवस्था को होने वाले नुकसान से उबरने के लिए ब्याज दरों में 50 आधार अंकों की बड़ी कटौती का ऐलान किया है. यह लगातार नौवीं बार है, जब यहां के केंद्रीय बैंक ने ब्याज दरों में कटौती की है. इसके बाद अब नई ब्याज दरें में 8.75 फीसदी से घटकर 8.25 फीसदी हो गया. हालांकि, यह फैसला एक ऐसे समय पर आया है, जब तुर्की के विदेशी करंसी रिजर्व में तेजी से गिरावट आ रही है.

करंसी लीरा में भारी गिरावट
तुर्की के केंद्रीय बैंक के इस फैसले के बाद अधिकतर इकोनॉमिस्ट्स का कहना है कि इससे स्थानीय करंसी लीरा को मजबूती मिल सकेगी. इस महीने की शुरुआत में लीरा में कमजोरी देखने को मिली थी. हालांकि, अब डॉलर के मुकाबले इसमें कुछ सुधार हुआ है. गुरुवार को डॉलर के मुकाबले लीरा का भाव 6.789 के स्तर पर था. पिछले साल जुलाई के बाद से लगातार यहां पर ब्याज दरों में कटौती देखने को मिल रही है. जुलाई 2019 में यहां ब्याज दर 24 फीसदी के स्तर पर था.

कोरोना के असर से उबर रही अर्थव्यवस्था



तुर्की के केंद्रीय बैंक ने एक बयान जारी कर कहा ​है कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से अर्थव्यवस्था को होने वाले नुकसान में अब सुधार देखने को मिल रही है. यहां की मौद्रिक नीति कमिटी ने मौजूदा हालात को अभी कमजोर ही करार दिया है. हालांकि, अप्रैल के बाद मई के पहले दो सप्ताह में आर्थिक हालात बेहतर हुए हैं.



यह भी पढ़ें: PM Kisan Scheme के साथ मिलते हैं ये तीन और फायदे जो आपको नहीं होंगे मालूम

मीडिल ईस्ट देशों में कोरोना के सबसे अधिक मामले तुर्की में
मीडिल ईस्ट देशों में कोरोना वायरस के असर की बात करें तो तुर्की पर इसका सबसे अधिक प्रभाव पड़ा है. यहां करीब 1.50 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं. तुर्की ने करीब एक महीने पहले ही सबसे ​अधिक संक्रमण के मामले में ईरान को पीछे छोड़ दिया था.

तुर्की की सरकार ने 15.4 अरब डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया है
कोरोना संक्रमण से पहले ही तुर्की की अर्थव्यवस्था में सुस्ती देखने को मिल रही थी. पिछले दो साल से तुर्की की करंसी लीरा में कमजोरी देखने को मिल रही है, राजकोषीय घाटे में इजाफा हुआ है और जनवरी में यहां पर बेरोजगारी दर 14 फीसदी था. मार्च में अंत में यहां की सरकार ने 15.4 अरब डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया था. इस राहत पैकेज में प्रमुख तौर कोरोना से प्रभावित होने वाले​ बिजनेस के लिए प्रावधान था. टूरिज्म सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए भी यहां की सरकार ने कई कदम उठाए हैं.

यह भी पढ़ें:  घर बैठे अपने EPF अकाउंट में KYC को कैसे करें ऑनलाइन अपडेट, जानें पूरा प्रोसेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 6:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading