अपना शहर चुनें

States

12 फीसदी तक महंगा हुआ TV-फ्रिज, नहीं मिल रहा डिस्काउंट, चीन है असली वजह!

कस्टम विभाग ने चीन से आने वाले सारे कंसाइनमेंट की जांच शुरू कर दी है
कस्टम विभाग ने चीन से आने वाले सारे कंसाइनमेंट की जांच शुरू कर दी है

कस्टम विभाग द्वारा विदेशों से आने वाले कंसाइनमेंट की जांच शुरू होने की वजह से सप्लाई चेन रुक गई है. यही कारण है कि अब कंपनियां इलेक्ट्रॉनिक गुड्स पर डिस्काउंट नहीं दे रही है. उन्होंने 12 फीसदी तक कीमतों में इजाफा भी कर दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और चीन के बॉर्डर पर बढ़ते तनाव (India-China Tension) का असर अब भारतीय बाजार पर दिखने लगा है. एक तरफ चीनी प्रोडक्ट्स के ​बहिष्कार के ​​लिए सोशल मीडिया पर कैंपेन चल रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ भारतीय बाजार में अब इलेक्ट्रॉनिक गुड्स (Electronic Goods) जैसे मोबाइल, टैबलेट, टीवी, फ्रिज की उपलब्धता पर भी असर पड़ रहा है.

कस्टम विभाग (Custom Department) ने चीन से आने वाले सारे कंसाइनमेंट की जांच शुरू कर दी है, जिसकी वजह से सप्लाई चेन में रुकावट आ गई है. यही कारण है कि अधिकतर कंपनियों ने इन प्रोडक्ट्स की कीमतों में 12 फीसदी तक का इजाफा कर दिया है.

यह भी पढ़ें:- अब आप ले सकते हैं 'कोरोना कवच' और 'कोरोना रक्षक' की सुरक्षा, समझें पूरी स्‍कीम



नई लॉन्चिंग में देरी संभव
इन इलेक्ट्रॉनिक गुड्स की सप्लाई रुकने की वजह से कई कंपनियों ने इन पर डिस्काउंट देना भी बंद कर दिया है. इसका एक कारण डॉलर के मुकाबले रुपये में आई कमजोरी भी है. वहीं, अब कहा जा रहा है कि नए मोबाइल हैंडसेट और टीवी आदि के लॉन्च में देरी भी संभव है.

80 फीसदी इलेक्ट्रॉनिक गुड्स आयात करता है भारत
बता दें कि भारत में 80 फीसदी इलेक्ट्रॉनिक गुड्स का आयात किया जाता है. भारत को डिस्प्ले पैनल, प्रिंटेड सर्किट बोर्ड के लिए पूरी तरह से चीन के आयात पर ही निर्भर रहना पड़ता है. ऐसे में चाइनीज़ गुड्स के आयात रोकने से घरेलू इंडस्ट्री पर असर पड़ रहा है.

यह भी पढ़ें:- घर बैठे राशन कार्ड में जोड़े फैमिली मेंबर का नाम, जानिए क्या है तरीका

स्मार्टफोन की मांग में तेजी
हाल ही में चीनी स्मार्टफोन कंपनी ने ऑनलाइन एक स्मार्टफोन को लॉन्च किया था. शाओमी इंडिया (Xiaomi India) के हेड मनु जैन ने दावा किया था कि महज कुछ सेकेंड में ही इस फोन का स्टॉक खत्म हो गया. कुछ कंपनियां भारत में खपत पूरा करने के ​लिए अपने आयात का सहारा ले रही है. खासतौर से स्मार्टफोन सेग्मेंट में, क्योंकि भारत स्थित उनकी फैसिलिटी में काम पूरी तरह से शुरू नहीं हुए हैं. (असीम मनचंदा, CNBC आवाज़)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज