लाइव टीवी

आधार कार्ड बनाने, डाक से भेजने पर 8 साल में खर्च हुए 9055 करोड़ रुपए

News18Hindi
Updated: July 27, 2017, 9:21 AM IST
आधार कार्ड बनाने, डाक से भेजने पर 8 साल में खर्च हुए 9055 करोड़ रुपए
आधार

आधार कार्ड बनाने, डाक से भेजने पर 8 साल में खर्च हुए 9055 करोड़ रुपए

  • Share this:
भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने आधार नंबर जारी करने पर पिछले आठ साल के दौरान 9,000 करोड़ से भी अधिक राशि खर्च की है. यह जानकारी आज संसद में दी गई. इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और आईटी राज्‍य मंत्री पीपी चौधरी ने लोकसभा में एक लिखित उत्‍तर में बताया कि साल 2009-10 से लेकर साल 2017-18 (18 जुलाई 2017 तक) तक UIDAI का कुल खर्च 9,055.73 करोड़ रुपए रहा है.

अब तक 116 करोड़ आधार बने
इसमें 3,819.97 करोड़ रुपए पंजीकरण पर और 1,171.45 करोड़ रुपए लॉजिस्टिक (प्रिंटिंग और आधार पत्र का डिस्‍पैच) पर खर्च किए गए. ससंद में बताया गया कि 21 जुलाई 2017 तक कुल 116.09 करोड़ आधार नंबर जनरेट किए जा चुके हैं,‍ जिसमें से तकरीबन 115.15 करोड़ को डिस्‍पैच किया जा चुका है.

डीबीटी का कर रहे हैं विस्तार

पीपी चौधरी ने कहा कि डीबीटी (डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर) का विस्‍तार किया जा रहा है. इसके तहत 51 मंत्रालयों और विभागों की 314 योजनाओं को डीबीटी के तहत लाया जा चुका है. चौधरी ने बताया कि केंद्र सरकार की सभी पूर्ण या आंशिक वित्‍तीय योजनाओं के लिए राज्‍य सरकारों से आधार आधारित डीबीटी लागू करने का अनुरोध किया है.

यह भी पढ़े: 75% लोगों ने अब तक अपने PAN को नहीं किया आधार से लिंक
यह भी पढ़े: तो ‘बेकार’ भी हो सकता है आपका आधार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 27, 2017, 8:22 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर