लाइव टीवी

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने निवेशकों को किया मालामाल, 8 दिन में मिला 58 फीसदी का मुनाफा

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 11:41 AM IST

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक (Ujjivan Small Finance Bank) के आईपीओ में पैसा लगाने वालों को बंपर रिटर्न मिला है. गुरुवार को बैंक का शेयर NSE पर 58 .78 फीसदी के प्रीमियम पर लिस्ट हुआ. ये अपने इश्यू प्राइस 37 रुपये प्रति शेयर के मुकाबले 58.75 रुपये पर लिस्ट हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 11:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक (Ujjivan Small Finance Bank) के आईपीओ में पैसा लगाने वालों को बंपर रिटर्न मिला है. गुरुवार को बैंक का शेयर NSE पर 58 .78 फीसदी के प्रीमियम पर लिस्ट हुआ. ये अपने इश्यू प्राइस 37 रुपये प्रति शेयर के मुकाबले 58.75 रुपये पर लिस्ट हुआ है. मतलब साफ है कि निवेशकों को एक शेयर पर 21.75 रुपये का फायदा हुआ है. आपको बता दें कि आईपीओ बाजार में ये तीसरी बंपर लिस्टिंग हुई है. इससे पहले सीएसबी बैंक और IRCTC के शेयर ने निवेशकों के पैसे डबल कर दिए थे. उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के आईपीओ को 165 गुना से अधिक बोलियां मिली थी. यह साल 2019 में सबसे ज्यादा बोलियां पाने वाला आईपीओ बन गया.

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के बारे में जानिए- उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक , उज्जीवन फाइनेंशियल सर्विसेज (Ujjivan Financial Services) की एक सब्सिडरी कंपनी है. उज्जीवन फाइनेंशियल सर्विसेज ने 2016 में पब्लिक कंपनी के तौर पर काम करना शुरू किया था.

>> रिजर्व बैंक (RBI) से स्मॉल बैंक शुरू करने का लाइसेंस मिलने के बाद फरवरी 2017 में बैंकिंग कारोबार शुरू किया था.

>> मौजूदा समय में देशभर में 24 शहरों में 552 ब्रांच हैं और 441 ATM हैं. USFB की अधिकतर ब्रांच तमिलनाडु, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल में परिचालन में हैं.

ये भी पढ़ें-देश के इन पांच CEOs को हर महीने मिलती हैं 5 करोड़ रुपये से ज्यादा की सैलरी!



सिर्फ 8 दिन में हुआ 58 फीसदी का मुनाफा- आपको बता दें कि उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक (Ujjivan Small Finance Bank) का आईपीओ 4 दिसंबर को बंद हुआ और इसकी लिस्टिंग 12 दिसंबर को हुई है. ऐसे में अगर किसी ने इसमें पैसा लगाए है शेयर भी मिले हैं तो महज 8 दिन में 58 फीसदी का मुनाफा हुआ है.>> निवेशकों से मिला था जोरदार रिस्पॉन्स- क्वालिफाइड इंस्टिट्यूशनल बायर्स (QIB) श्रेणी के लिए 113.80 गुना अधिक बोलियां मिली थीं, जबकि नॉन-इंस्टिट्यूशनल इन्वेस्टर्स श्रेणी के लिए 486.14 गुना अधिक बोलियां मिली थीं, जबकि रिटेल इंडिविजुअल निवेशक श्रेणी के लिए 50.16 गुना अधिक बोलियां लगी थीं.

>> उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ऐंकर इन्वेस्टर्स जैसे गवर्मेंट ऑफ सिंगापुर, मॉनिटरी अथॉरिटी ऑफ सिंगापुर, सीएक्स पार्टनर फंड, एबेरदीन, एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, बजाज आलियांज लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, सुंदरम म्यूचुअल फंड, गोल्डमैन सैक इंडिया, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल से पहले ही 303.75 करोड़ रुपये जुटा चुका है.

ये भी पढ़ें-GST काउंसिल बैठक में रोजमर्रा की इन चीजों पर बढ़ सकता है टैक्स!



आप भी लगा सकते हैं आईपीओ में पैसा- IPO में आप अपने स्तर पर सीधे निवेश कर सकते हैं, जिसके लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना जरूरी है. इसमें ब्रोकर के जरिए निवेश किया जा सकता है.

>> हर ब्रोकरेज हाउस आईपीओ में निवेश के लिए अपनी वेबसाइट पर एक अलग सेक्शन रखता है. जहां जाकर आप कुछ सूचनाएं भरने के बाद आईपीओ के लिए आवेदन कर सकते हैं.

>> इन सूचनाओं में प्रमुख है कि आप कितने स्टॉक के लिए किस कीमत पर अप्लाई करना चाहते हैं. आपके आवेदन के हिसाब से उतनी रकम आईपीओ बंद होने से लिस्टिंग तक ब्लॉक कर दी जाती है.

ये भी पढ़ें-दिल्ली के इन इलाकों में दौड़ेगी मेट्रो, सरकार ने दी फंडिंग पैटर्न को मंजूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पैसा बनाओ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर