लाइव टीवी

मोदी सरकार के लिए बड़ी खुशखबरी! आसान हुआ भारत में बिजनेस करना: रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: November 14, 2019, 8:43 PM IST
मोदी सरकार के लिए बड़ी खुशखबरी! आसान हुआ भारत में बिजनेस करना: रिपोर्ट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (File Photo)

UKIBC की एक ​सर्वे से पता चला है कि इंग्लैंड की 56 फीसदी कंपनियों का मानना है बीते 5 साल के दौरान भारत में बिजनेस करने का माहौल बेहतर हुआ है. इस सर्वे में कहा गया है कि इंग्लैंड की कंपनियां भारत में बिजनेस करने को लेकर आशावादी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 14, 2019, 8:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशी कंपनियों के लिए भारत में निवेश करना पहले से आसान हुआ है. ऐसा हम नहीं, बल्कि एक सर्वे से पता चलता है. इस सर्वे में कहा गया है कि इंग्लैंड (England) की कंपनियां भारत में बिजनेस (Business in India) करने को लेकर आशावादी हैं. सर्वे में 56 फीसदी कंपनियों ने माना कि भारत में बिजनेस करना पहले की तुलना में आसान हुआ है. साथ ही भ्रष्टाचार (Corruption) में भी कमी आई है. बता दें कि हाल ही में विश्व बैंक (World Bank Report) ने 'ईज ऑफ डूईंग बिजनेस' की रैंकिंग (Ease of Doing Business Ranking) जारी किया था, जिसमें भारत लगातार सुधार कर रहा है. साल 2020 के लिए इस रैंकिंग में भारत 14 की सुधार करते हुए 63वें स्थान पर है.

भारत के साथ व्यापार बढ़ाना चाहती हैं कंपनियां
इस रिपोर्ट में कहा गया है कि ब्रेग्जिट (BREXIT) को लेकर चल रहे मौजूदा हालात को देखते हुए यूनाइटेड किंग्डम (United Kingdom) की कंपनियां अन्य देशों में कारोबार करने पर विचार कर रही हैं. सर्वे के दौरान 26 फीसदी कंपनियों ने माना कि जब यूरोपियन यूनियन (European Union) से इंग्लैंड अलग होगा तो वो भारत के साथ व्यापार बढ़ाना चाहेंगी. 56 फीसदी कंपनियों ने माना कि भारत में व्यापार करना आसान हुआ है. वहीं, 21 फीसदी का मानना है कि इसमें कोई सुधार नहीं हुआ है और 23 फीसदी ने इसपर कोई रया नहीं दी.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर! Aadhaar में एड्रेस बदलने और बैंक खाता खोलने की प्रक्रिया में सरकार ने किया बदलाव


पहले से बेहतर हुआ माहौल
यूके-इंडिया बिजनेस काउंसिल (UKIBC) की तरफ से जारी इस रिपोर्ट निश्चित ही मोदी सरकार को खुश करेगी, क्योंकि 2014 में ईज ऑफ डूईंग बिजनेस की रिपोर्ट में 50 फीसदी कंपनियों ने माना था कि बिजनेस के लिए भारत में सही माहौल नहीं है. इसका सबसे बड़ा कारण भ्रष्टाचार बताया गया था. अब इसके ठीक पांच साल बाद केवल 17.5 फीसदी कंपनियों ने माना है कि भ्रष्टाचार की वजह से भारत में बिजनेस करने का माहौल ठीक नहीं है. हालांकि, कानूनी और नियामकीय प्रक्रिया पर अभी भी बहुत सुधार करने की उम्मीदी जताई गई है.
Loading...

टैक्स सिस्टम में और सुधार की जरूरत
UK की कंपनियों का मानना है कि भारत में उनके लिए टैक्स व्यवस्था (Tax System in India) एक गंभीर मसला है. 28.6 फीसदी कंपनियों ने माना कि सरकार को ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) बेहतर करने की जरूरत है. वहीं, 16.9 फीसदी कंपनियों ने माना कि सरकार को वस्तु एवं सेवा कर (GST) की प्रक्रिया में और सुधार की जरूरत है. उनका कहना है कि मौजूदा समय में GST की प्रक्रिया अधिक पेंचीदा है.

ये भी पढ़ें: जिस प्याज को किसान ने 15 रुपये किलो बेचा, जानिए कैसे बाजार में उसका दाम 100 रुपये पहुं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 7:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...