होम /न्यूज /व्यवसाय /Uma Exports IPO: उमा एक्‍सपोर्ट का पब्लिक ऑफर खुला, क्‍या आपको लगाना चाहिए इसमें पैसा?

Uma Exports IPO: उमा एक्‍सपोर्ट का पब्लिक ऑफर खुला, क्‍या आपको लगाना चाहिए इसमें पैसा?

Uma Exports का आईपीओ पहले दिन 1.73 गुना हुआ सब्सक्राइब

Uma Exports का आईपीओ पहले दिन 1.73 गुना हुआ सब्सक्राइब

मसालों और अनाजों का आयात-निर्यात करने वाली 25 साल पुरानी कंपनी उमा एक्सपोर्ट्स (Uma Exports) 60 करोड़ रुपये का पब्लिक ऑ ...अधिक पढ़ें

नई दिल्लीः मसालों और अनाजों का आयात-निर्यात करने वाली 25 साल पुरानी कंपनी उमा एक्सपोर्ट्स (Uma Exports) का पब्लिक ऑफर (IPO) सोमवार 28 मार्च को खुल गया. यह 30 मार्च को बंद होगा. स्टॉक मार्केट में लंबे समय बाद कोई आईपीओ खुला है. बाजार में तेज उतार-चढ़ाव की वजह से आईपीओ लाने वाली कंपनियां सतर्कता बरत रही हैं.

पहले दिन 1.73 गुना हुआ सब्सक्राइब

आईपीओ के जरिए कंपनी की योजना 60 करोड़ रुपये जुटाने की है. कंपनी के आईपीओ को निवेशकों का बेहतर रिस्पॉन्स मिला है. पहले ही दिन कंपनी का इश्यू पूरी तरह से सबस्क्राइब हो गया. पहले दिन आईपीओ 1.73 गुना सब्सक्राइब हुआ. इश्यू का प्राइस बैंड 65-68 रुपये है. इसका लॉट 220 रुपये का है. यानी एक लॉट के लिए निवेशकों को न्यूनतम 14,960 रुपये लगाने होंगे. इश्यू से जुटाए गए फंड का इस्तेमाल कंपनी अपने कामकाज की जरूरतों को पूरा करने में करेगी.

ये भी पढ़ें- खांसी-बुखार बढ़ाएगा मरीजों के जेब का दर्द, 1 अप्रैल से 11% बढ़ेंगे जरूरी दवाओं के दाम

निवेश के लिए कैसा है यह आईपीओ

कंपनी ने नई रणनीति बनाई है. इसके तहत मांग के मुताबिक एक कमोडिटी से दूसरी कमोडिटी में आयात-निर्यात करती रहेगी. मैनेजमेंट ने यह रणनीति इसलिए अपनाई है ताकि हमेशा कंपनी किसी न किसी कमोडिटी में एक्सपोर्ट-इंपोर्ट करती रहे. इसके ग्राहक दुनिया भर में फैले हैं. कंपनी फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में एक प्रोक्योरमेंट ऑफिस लगा रही है ताकि ढुलाई का खर्च बचे. विशेषज्ञों की राय है कि लंबी अवधि के निवेशक इस आईपीओ में पैसा लगा सकते हैं. छोटी अवधि के निवेशकों के लिए यह आईपीओ आकर्षक नहीं है. लंबी अवधि के लिए यह फायदेमंद हो सकता है.

मजबूत है बैलेंस शीट

कंपनी की बैलेंस शीट देखें तो पिछले तीन साल में कारोबार अच्छा रहा है. इस दौरान कंपनी की आमदनी और मुनाफे दोनों में तेजी आई है. वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी  की कुल आमदनी 752.03 करोड़ रुपये और शुद्ध मुनाफा 12.18 करोड़ रुपये रहा था. यह पूरी तरह से नया इश्यू है. कंपनी 7 अप्रैल को बाजार में सूचीबद्ध हो सकती है.

उमा एक्सपोर्ट्स का क्या है कारोबार

उमा एक्सपोर्ट्स लाल मिर्च, हल्दी, जीरा, धनिया जैसे मसालों और चावल, गेहूं, मक्का, ज्वार जैसे अनाजों की ट्रेडिंग और मार्केटिंग का काम करती है. इनके अलावा दाल, चीनी, चाय और सोयोबानी मील और राइस ब्रैन डी-ऑयल्ड केक जैसे पशुचारे की भी डील करती है.

(Disclaimer: यहां बताए गए स्‍टॉक्‍स ब्रोकरेज हाउसेज की सलाह पर आधारित हैं. यदि आप इनमें से किसी में भी पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले सर्टिफाइड इनवेस्‍टमेंट एडवायजर से परामर्श कर लें. आपके किसी भी तरह की लाभ या हानि के लिए लिए News18 जिम्मेदार नहीं होगा.)

Tags: IPO, Stock market, Stock Markets, Stock Options, Stock tips

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें