2020 में 155 मिलियन लोगों को खाना नसीब नहीं हुआ, इस साल हालात और बदत्तर होंगे, पढ़ें ये दिल दहला देने वाली रिपोर्ट

खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे लोगों और तत्काल भोजन चाहिए

खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे लोगों और तत्काल भोजन चाहिए

2020 में कम से कम 155 मिलियन लोगों को भूख का सामना करना पड़ा. इसमें करीब 133,000 लोग ऐसे शामिल थे जो भुखमरी के चलते मौत के करीब पहुंच गए थे, जिसे बचाने के लिए तत्काल भोजन की आवश्यकता थी.

  • Share this:

नई दिल्ली. आप भी खाने की बर्बादी करते हैं? तो आप UN की ये रिपोर्ट जरूर पढ़ें. आपको समझ में आएगा कि जिस भोजन को हम बर्बाद कर रहे हैं, उसे खाने के लिए लाखों-करोड़ों लोग भूखे मर रहे हैं. समय पर खाना नहीं मिलने के कारण पिछले साल करीब एक लाख लोग मौत के करीब पहुंच गए थे. साल 2020 में कम से कम 155 मिलियन लोगों को भूख का सामना करना पड़ा. इसमें करीब 133,000 लोग ऐसे शामिल थे जो भुखमरी के चलते मौत के करीब पहुंच गए थे, जिसे बचाने के लिए तत्काल भोजन की आवश्यकता थी. रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि इस साल 2021 पिछले से ज्यादा भयानक होने वाला है. साल 2021 में बेहद गंभीर और बदत्तर होगा. इसका खुलासा 16 संगठनों वाली UN रिपोर्ट में किया गया है.

55 देशों के सर्वे पर आधारित रिपोर्ट

UN रिपोर्ट 55 देशों में की गई सर्वे पर आधारित है. रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल Covid-19 महामारी और लाॅकडाउन के चलते भारत दुनियाभर को आर्थिक संकट से गुजरना पड़ा. ऐसे में लाखों लोगों को बिना भोजन के ही रहना पड़ा. इनमें से कई लोग ऐसे भी थे जिसे तुरंत भोजन न दिया जाता तो उनकी मौत हो जाती. करीब 1 लाख लोग भूख से मरने के हालात में पहुंच गए थे.

ये भी पढ़ें-  IPO से भरना चाहते हैं तिजोरी तो आपको मिलेगा बड़ा मौका, पैसा रखिए तैयार..सेबी ने इन दो कंपनियों को दी मंजूरी
2019 के मुकाबले 20 मिलियन लोग ज्यादा प्रभावित

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल 2020 में कोरोना संकट, आपातकालीन, तबाही के चलते भोजन की जरूरतों को महसूस किया. साल 2019 के मुकाबले लोगों की यह संख्या 20 मिलियन ज्यादा थी.

इन देशों के लोग सबसे ज्यादा प्रभावित



रिपोर्ट के अनुसार, इस तरह की संकट में सबसे अधिक लोग इन 10 देशों के थे. ये देश हैं- कांगो, यमन, अफगानिस्तान, सीरिया, सूडान, उत्तरी नाइजीरिया, इथियोपिया, दक्षिण सूडान, जिम्बाब्वे और हैती. बुर्किना फासो, दक्षिण सूडान और यमन में करीबन 133,000 लोग खाने के लिए तड़प रहे हैं. यहां लोग भूख से मर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- PM Kisan: किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी! 10 मई तक खाते में आएंगे 2000 रुपये, फटाफट चेक करें अपना स्टेटस

UN के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (U.N. Secretary-General Antonio Guterres ) ने फूड क्राइसिस की 307 पेज की ग्लोबल रिपोर्ट के हवाले से लिखा है कि अधिक खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे लोगों और तत्काल भोजन, पोषण और आजीविका सहायता की आवश्यकता वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज