बहुत आसान है Credit Card Statement समझना, जानें किन-किन चीजों की मिलती है जानकारी

क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट में आपको तीन तरह की लिमिट मिलेंगी कुल क्रेडिट लिमिट, उपलब्ध क्रेडिट लिमिट और कैश लिमिट.

क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट में आपको तीन तरह की लिमिट मिलेंगी कुल क्रेडिट लिमिट, उपलब्ध क्रेडिट लिमिट और कैश लिमिट.

क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट (Credit Card Statement) से मुख्य रुप से इस बात की जानकारी मिलती है कि आपने बिलिंग साइकिल या बिलिंग पीरियड में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कैसे किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 6, 2021, 11:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आजकल क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का इस्तेमाल आम हो चला है. आप अगर क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का यूज करते हैं तो आपके पास इसके लेनदेन का विवरण हर महीने स्टेटमेंट के रूप में आती होगी. दरअसल, क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट (Credit Card Statement) से मुख्य रुप से इस बात की जानकारी मिलती है कि आपने बिलिंग साइकिल (Billing Cycle) या बिलिंग पीरियड (Billing Period) में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कैसे किया है.

मौजूद रहती हैं ये डिटेल्स

पेमेंट ड्यू डेट- ये क्रेडिट कार्ड बिल के भुगतान की आखिरी तारीख है. इस तारीख के बाद किए गए पेमेंट पर दो तरह के चार्ज लगते हैं. पहला, आपको बकाया राशि पर ब्याज का भुगतान करना होगा और लेट पेमेंट फीस देनी पड़ती है.



मिनिमम अमाउंट ड्यू- यह बकाया राशि का प्रतिशत होता है (लगभग 5 फीसदी) या सबसे कम राशि होती है (कुछ सौ रुपये) जिसे लेट फीस को बचाने के लिए देना होता है.
ये भी पढ़ें- Amazon पर करते हैं ज्यादा शॉपिंग तो इस क्रेडिट कार्ड से मिलेगा एक्सट्रा फायदा

टोटल आउटस्टैंडिंग- आपको प्रति महीने कुल बकाया राशि का भुगतान करना चाहिए, जिससे कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लगे. कुल राशि में सभी ईएमआई शामिल होती है, जिसके साथ बिलिंग साइकिल में लगे चार्ज होते हैं.

ग्रेस पीरियड- पेमेंट ड्यू डेट के खत्म होने के बाद 3 दिनों का ग्रेस पीरियड दिया जाता है. ग्रेस पीरियड के बाद भुगतान ना करने पर लेट पेमेंट पेनाल्टी लगाई जाती है.

क्रेडिट लिमिट- क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट में आपको तीन तरह की लिमिट मिलेंगी कुल क्रेडिट लिमिट, उपलब्ध क्रेडिट लिमिट और कैश लिमिट.

ये भी पढ़ें- Credit Card: क्या क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ानी चाहिए, जानें फायदे और नुकसान

ट्रांजेक्शन डिटेल्स- इस सेक्शन में आपके क्रेडिट कार्ड खाते में कितना पैसा आया और कितना खर्च हुआ इसकी पूरी जानकारी होती है.

रिवॉर्ड प्वाइंट- क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट में आपको अब तक जमा किए गए रिवॉर्ड प्वाइंट्स के साथ उसका स्टेटस भी दिखेगा. यहां आपको एक टेबल दिखेगा जिसमें पिछली साइकिल से आए रिवॉर्ड प्वाइंट्स की संख्या, वर्तमान बिलिंग साइकिल में कमाए गए प्वाइंट्स और खत्म हो चुके प्वाइंट्स दिए जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज