मधुमक्खी पालकों की बढ़ेगी आमदनी, कृषि मंत्री ने शुरू की शहद परीक्षण परियोजना

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने कहा कि देश में शहद का उत्पादन और निर्यात बढ़ रहा है. अच्छी गुणवत्ता वाले शहद के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. विश्व मधुमक्खी दिवस (World Bee Day) के अवसर पर भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान यानी आईएआरआई (Indian Agricultural Research Institute) में शहद परीक्षण परियोजना का आगाज किया गया. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने परियोजना का शुभारंभ किया.

इस मौके पर नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि देश में शहद का उत्पादन और निर्यात बढ़ रहा है. अच्छी गुणवत्ता वाले शहद के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. साथ ही छोटे किसानों को इससे जोड़ने की कोशिश भी जा रही है, जिससे किसानों की आमदनी बढ़ सके. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन एवं शहद मिशन के तहत मीठी क्रांति के लिए 300 करोड़ रुपये केंद्र सरकार ने मंजूर किए हैं. आत्मनिर्भर भारत के तहत भी 500 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं.

मधु क्रांति पोर्टल भी शुरू

तोमर ने बताया कि आंणद में विश्वस्तरीय स्टेट ऑफ आर्ट हनी टेस्टिंग लैब 5 करोड़ की लागत से स्थापित की गई है. दो क्षेत्रीय परीक्षण प्रयोगशालाएं 8-8 करोड़ की लागत से तैयार करने की मंजूरी भी दी जा चुकी है. ऑनलाईन सुविधा के लिए मधु क्रांति पोर्टल भी शुरू किया गया है. मधुमक्खी पालकों के लिए देशभर में 10 हजार FPO बनाए जा रहे हैं.
ये भी पढ़ें- Gold Price Today: फिर बढ़ गई सोना-चांदी की कीमतें, खरीदारी से पहले देखें 10 ग्राम गोल्‍ड का नया भाव

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि शहद का उत्पादन बढे मगर गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं करें. छोटे-छोटे किसानों को जिनके पास भूमि नहीं है, उन्हें इससे जोड़कर आमदनी बढ़ाने का प्रयास भी करना चाहिए.

(रिपोर्ट- अशरफ काजमी)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज