टैक्सपेयर्स को मिल सकता है बड़ा तोहफा, 5 लाख तक बढ़ सकती है टैक्स छूट की सीमा

Indian Union Budget 2019 in Hindi: मोदी सरकार के दोबारा बनने के बाद सीतारमण अब पूर्ण बजट 2019 पेश करेंगी. आज पेश होने वाले बजट में नौकरीपेशा लोगों को वित्त मंत्री बड़ा तोहफा दे सकती है.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 9:36 AM IST
टैक्सपेयर्स को मिल सकता है बड़ा तोहफा, 5 लाख तक बढ़ सकती है टैक्स छूट की सीमा
5 लाख तक बढ़ सकती है टैक्स छूट की सीमा
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 9:36 AM IST
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज पेश कर रही हैं. चुनावी साल होने के चलते इस साल फरवरी में अंतरिम बजट तत्कालीन वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने पेश किया था. मोदी सरकार के दोबारा बनने के बाद सीतारमण अब पूर्ण बजट 2019 पेश करेंगी. आज पेश होने वाले बजट में नौकरीपेशा लोगों को वित्त मंत्री बड़ा तोहफा दे सकती है. बजट में टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत मिल सकती है. बजट में इंडिविजुअल इनकम टैक्सपेयर्स के लिए छूट की सीमा मौजूदा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये की जा सकती है. अभी तक 60 साल से कम उम्र के लोगों को 2.5 लाख रुपये तक आयकर की छूट दी जाती रही है, जबकि सीनियर सिटीजन के लिए यह सीमा 3 लाख रुपये तक निर्धारित है.

टैक्स स्लैब में बदलाव की उम्मीद
इनकम टैक्स के मोर्चे पर टैक्स स्लैब में बदलाव की उम्मीद की जा रही है. 2019-20 के अंतरिम बजट में 5 लाख रुपये तक की आय पर कर छूट देने की घोषणा की गयी थी. फिलहाल 2.5 लाख रुपये से 5 लाख रुपये की आय पर 5 फीसदी, 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक की आय पर 20 फीसदी और 10 लाख रुपये से ऊपर आय पर कर की दर 30 फीसदी है.

40 फीसदी का नया टैक्स रेट संभव

राजकोषीय स्थिति मजबूत करने के लिये कर दायरा बढ़ाने और अनुपालन बेहतर करने के इरादे से 10 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाने वालों पर 40 फीसदी की एक नई दर से कर लगाया जा सकता है.

ईमानदार टैक्सपेयर्स के किए हो सकती है घोषणा
वहीं, ईमानदार टैक्सपेयर्स के लिए कुछ ऐलान किए जा सकते है. सर्वाधिक टैक्स चुकाने वालों को राजनयिकों जैसी छूट या उनके नाम पर किसी सड़क का नाम रखा जा सकता है. टैक्सपेयर्स को वीआईपी ट्रीटमेंट देने से लोगों में भी टैक्‍स जमा करने का उत्‍साह पैदा होगा.
Loading...

अगर आपकी सालाना आय छूट की तय सीमा से ज्यादा है तो आपके लिए रिटर्न भरना जरूरी होगा. 5 लाख रुपये तक की सालाना आय वालों को आयकर के सेक्शन 87ए के तहत छूट का लाभ दिया जाएगा. इस छूट का लाभ तभी पाया जा सकता है जब आप रिर्टन भरें. अगर आपकी पांच लाख रुपये सालाना आय है और आप रिटर्न नहीं भरते हैं तो आपको आयकर विभाग का नोटिस आ सकता है.

2 लाख तक बढ़ सकती है टैक्स छूट की सीमा
निवेश पर टैक्स छूट की सीमा को 1.50 लाख रुपये से बढ़ाकर 2 लाख रुपये का ऐलान संभव है. होमलोन के ब्याज पर मिलने वाले टैक्स छूट की सीमा को 2 लाख से बढ़ाकर 2.50 लाख रुपये संभव है.

आम बजट 2019 की सही और सटीक खबरों के लिए न्यूज18 हिंदी पर आएं. वीडियो और खबरों  के लिए यहां क्लिक करें
First published: July 5, 2019, 9:13 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...