Budget 2019: पीयूष गोयल बोले- हमने महंगाई की कमर तोड़ दी

Union Budget 2019: वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को अंतरिम बजट पेश किया. पीयूष गोयल ने कहा कि भारत ग्रोथ के रास्ते पर तेजी से बढ़ रहा है. उन्होंने कहा, FY19 में वित्तीय घाटा जीडीपी का 3.4 फीसदी रहने का अनुमान है.

News18Hindi
Updated: February 1, 2019, 12:11 PM IST
Budget 2019: पीयूष गोयल बोले- हमने महंगाई की कमर तोड़ दी
Union Budget 2019: वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को अंतरिम बजट पेश किया. पीयूष गोयल ने कहा कि भारत ग्रोथ के रास्ते पर तेजी से बढ़ रहा है. उन्होंने कहा, FY19 में वित्तीय घाटा जीडीपी का 3.4 फीसदी रहने का अनुमान है.
News18Hindi
Updated: February 1, 2019, 12:11 PM IST
वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को अंतरिम बजट पेश किया. पीयूष गोयल ने कहा कि भारत ग्रोथ के रास्ते पर तेजी से बढ़ रहा है. उन्होंने कहा, 'FY19 में वित्तीय घाटा जीडीपी का 3.4 फीसदी रहने का अनुमान है. यूपीए-2 के समय औसत महंगाई 10 फीसदी से ज्यादा थी. करंट अकाउंट घाटा 2.5 फीसदी रहेगा.'

यूनियन बजट 2019 के लाइव अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें...

गोयल ने अपने बजट भाषण में कहा, 'हमने 2022 तक न्यू इंडिया का लक्ष्य रखा है. पिछले पांच साल में भारत दुनिया के पटल पर ब्राइट स्पॉट बनकर उभरा है. भारत दुनिया की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है. आज भारत की छठवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. सरकार ने कई बड़े आर्थिक सुधार किए हैं.'



महंगाई की कमर तोड़ी

इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'महंगाई भी एक तरह से छिपा टैक्स होता है. हमारी सरकार ने 'कमरतोड़' महंगाई की कमर तोड़ दी. औसत महंगाई 4.6% है, जो दिसंबर 2018 में 2.19 फीसदी थी. अगर हम महंगाई पर नियंत्रण नहीं करते तो हर परिवार अपनी आमदनी का 35-40 फीसदी हिस्सा सिर्फ बुनियादी ज़रूरतों पर खर्च कर रहा होता.

3 लाख करोड़ के एनपीए की रिकवरी
वित्त मंत्री ने कहा, 'बैंकिंग सेक्टर में तेजी से सुधार हुआ है. बैंकों के विलय पर काम जारी है. अभी तक 3 लाख करोड़ रुपये के NPA (डूबे कर्ज) की रिकवरी हो चुकी है. पिछले 5 साल के दौरान देश में 23,900 करोड़ का FDI (विदेशी निवेश) आया है. देश ज्यादातर FDI ऑटोमेटिक रूट के जरिए आया है.'
Loading...

उन्होंने कहा, 'देश के संसाधनों पर पहला अधिकार गरीबों का है. पीयूष गोयल ने कहा RERA और बेनामी संपत्ति कानून से पारदर्शिता आई है. कई सारे बैंक जल्द ही PCA से बाहर होंगे.'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...