एक रुपये के जरिए जानें सरकारी खजाने में कहां से आएगा पैसा और कहां होगा खर्च?

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्‍त वर्ष 2019-20 का बजट पेश किया. सीतारमण ने अपने बजटीय भाषण में सरकार की आमदनी और खर्च का पूरा ब्‍योरा दिया.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 8:14 PM IST
एक रुपये के जरिए जानें सरकारी खजाने में कहां से आएगा पैसा और कहां होगा खर्च?
1 रुपये से जानिए अर्थव्यवस्था की पूरी तस्वीर
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 8:14 PM IST
वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्‍त वर्ष 2019-20 का बजट पेश किया. सीतारमण ने अपने बजटीय भाषण में सरकार की आमदनी और खर्च का पूरा ब्‍योरा दिया. बजट दस्तावेजों के मुताबिक इस वित्तीय वर्ष में सरकारी खजाने में आने वाले प्रत्येक एक रुपये में 68 पैसे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों से आएगा. जबकि खर्च के तौर पर करों और शुल्कों में राज्यों का हिस्से में सबसे ज्यादा 23 पैसे जाएंगे. प्रत्येक एक रुपये में माल एवं सेवा कर (GST) की वसूली से 19 पैसे प्राप्त होंगे. आइए जानते हैं रुपया कहां से आता है और रुपया कहां जाता है?

सरकार की कमाई
सरकार को उधार और दूसरी प्राप्तियों से 20 पैसे और आयकर से 16 पैसे मिलेंगे. केन्द्र सरकार को गैर- कर राजस्व के तौर पर विनिवेश से 9 पैसे प्राप्त होंगे. वहीं केन्द्रीय उत्पाद शुल्क से 8 पैसे, सीमा शुल्क से 4 पैसे और गैर-ऋण पूंजी प्राप्तियों से 3 पैसे मिलेंगे. ये भी पढ़ें: अब आपको 11.75 लाख रुपये तक इनकम पर नहीं देना होगा टैक्स, यहां देखें



सरकार का खर्च
सार्वजनिक व्यय के प्रत्येक रुपये में सबसे अधिक 23 पैसे करों और शुल्क में राज्यों के हिस्से के तौर पर उन्हें हस्तांतरित होगा. ब्याज भुगतान पर 18 पैसे, रक्षा क्षेत्र के लिये आवंटन पर 9 पैसे खर्च होंगे. केन्द्रीय क्षेत्र की योजनाओं पर 13 पैसे खर्च होंगे जबकि केन्द्र प्रायोजित योजनाओं पर 9 पैसे खर्च होंगे. वित्त आयोग की सिफारिशों पर हस्तांतरण पर सात पैसे खर्च होंगे. सब्सिडी की मद में 8 पैसे जाएंगे जबकि पेंशन पर 5 पैसे का खर्च होगा. 8 पैसे सरकार दूसरी मदों पर खर्च करेगी.

ये भी पढ़ें: बिजनेस शुरू करने वालों को तोहफा, 59 मिनट में मिल जाएगा 1 करोड़ का लोन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 8:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...