बिजनेस शुरू करने वालों को तोहफा, 59 मिनट में मिल जाएगा 1 करोड़ का लोन

Indian Union Budget 2019 in Hindi: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण में कहा है कि सरकार ने MSME लोन को लेकर नई सुविधा दी है. इसके तहत 1 करोड़ रुपये तक का लोन केवल 1 घंटे के अंदर पास हो जाएगा.

News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 11:59 AM IST
बिजनेस शुरू करने वालों को तोहफा, 59 मिनट में मिल जाएगा 1 करोड़ का लोन
बिजनेस शुरू करने वालों को 59 मिनट में मिलेगा 1 करोड़ का लोन
News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 11:59 AM IST
Indian Union Budget 2019 in Hindi: मोदी सरकार ने आम बजट में नया बिजनेस शुरू करने वालों को बड़ा तोहफा दिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण में कहा है कि सरकार ने MSME लोन को लेकर नई सुविधा दी है. इसके तहत 1 करोड़ रुपये तक का लोन केवल 1 घंटे के अंदर पास हो जाएगा. सरकार की यह सुविधा अभी मौजूदा बिजनेस के लिए ​ही है. लेकिन जल्द ही नए बिजनेस के लिए भी इसके जरिये लोन लिया जा सकेगा. लोन का अमांउट 8 कामकाजी दिनों के अंदर आपके अकाउंट में आ जाएगा.

59 मिनट में मिल जाएगा 1 करोड़ का लोन
स्टैंडअप इंडिया योजना से दो साल में 300 उद्यमी उभर कर सामने आए हैं. वित्त मंत्री ने कहा कि MSME क्षेत्र की कर्ज तक पहुंच को सुगम बनाने के लिए सरकार ने एक विशेष ऑनलाइन पोर्टल के माध्‍यम से 59 मिनट के भीतर 1 करोड़ रुपये तक का लोन उपलब्‍ध कराने की योजना शुरू की है.

अलग भुगतान प्लेटफॉर्म बनेगा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (MSME) के लिए एक भुगतान प्‍लेटफॉर्म का निर्माण करेगी. इससे बिल प्रस्‍तुत करने और उसके भुगतान का कार्य एक ही प्‍लेटफॉर्म पर किया जा सके. सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश करते हुए जोर दिया है कि छोटी एवं मझोली इकाइयों में रोजगार सृजित करने के लिए निवेश की जरूरत है.

ये भी पढ़ें: इनकम टैक्स देने वालों के लिए बड़ा ऐलान, रिटर्न भरना होगा आसान

आपूर्तिकर्ता और ठेकेदारों के लिए सरकारी भुगतान
Loading...

वित्त मंत्री ने कहा कि ब्‍याज माफी योजना के त‍हत GST में पंजीकृत सभी MSME के लिए नए अथवा बढ़े हुए कर्ज पर 2 फीसदी ब्‍याज छूट के लिए 2019-20 में 350 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है.

सालाना 400 करोड़ तक कारोबार वाली कंपनियों पर लगेगा 25% टैक्स
400 करोड़ रुपये तक का कारोबार करने वाली कंपनियों पर 25 फीसदी की दर से कॉरपोरेट कर लगाने का प्रस्ताव रखा गया है. अभी तक 250 करोड़ रुपये तक का कारोबार करने वाली कंपनियों पर 25 फीसदी की दर से कर लगता था. कंपनियों की कारोबार सीमा बढ़ने से अब 99.3 फीसदी कंपनियां घटे हुए दरके दायरे में आ जाएंगी. नई दर लागू होने के बाद केवल 0.7 फीसदी कंपनियां ही 25 फीसदी से ऊपर के कॉरपोरेट कर के दायरे में रह जाएंगी. सालाना 400 करोड़ रुपये से ऊपर का कारोबार करने वाली कंपनियों पर 30 फीसदी की दर से कॉरपोरेट कर लगेगा.

ये भी पढ़ें: सरकार जारी करेगी 20 रुपये का सिक्का, होंगे ये स्पेशल फीचर्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 6, 2019, 10:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...