बजट 2021-22: वित्त मंत्री ने बजट में किया ऐलान, गोल्ड एक्सचेंजों को अब SEBI करेगा रेग्युलेट

बजट 2021-22:  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने सोमवार को अपने बजट भाषण में कहा कि सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) गोल्ड एक्सचेंज के लिए रेगुलेटर का काम करेगा.

बजट 2021-22: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने सोमवार को अपने बजट भाषण में कहा कि सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) गोल्ड एक्सचेंज के लिए रेगुलेटर का काम करेगा.

बजट 2021-22: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने सोमवार को अपने बजट भाषण में कहा कि सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) गोल्ड एक्सचेंज के लिए रेगुलेटर का काम करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 2, 2021, 1:01 AM IST
  • Share this:
बजट 2021: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने संसद में 2021-22 का बजट पेश करते हुए कहा कि प्रतिभूति बाजार संहिता में सेबी अधिनियम, डिपॉजिटरीज अधिनियम और सरकारी प्रतिभूति अधिनियम शामिल होंगे. वित्त मंत्री ने कहा है कि सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) गोल्ड एक्सचेंज के लिए रेगुलेटर का काम करेगा. उन्होंने सिक्योरिटीज मार्केट कोड लॉन्च करने का प्रस्ताव दिया है. उन्होंने आगे बताया कि सिक्योरिटीज मार्केट कोड में सेबी एक्ट, डिपॉजिटरी एक्ट और गवर्नमेंट सिक्योरिटीज शामिल होंगे.

निवेशक चार्टर शुरू करने का प्रस्ताव- उन्होंने कहा कि निवेशकों की सुरक्षा के लिए सभी फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स में निवेशकों के अधिकार के रूप में एक निवेशक चार्टर (Investor Charter) शुरू करने का प्रस्ताव रखा है. सीतारमण ने बजट 2021 में सेबी एक्ट में कुछ बदलाव की बात कही है. वित्त मंत्री ने कहा कि अलग-अलग वर्षों में जो एक्ट लागू किये गए, उनको एक एक्ट के रूप में सामने लाया जाएगा. इसमें सेबी एक्ट 1992, सिक्योरिटी एक्ट, गवर्नमेंट सिक्योरिटी एक्ट 2007 और अन्य एक्ट की बात है.

Youtube Video


LIC का IPO- इसके अलावा वित्त मंत्री ने बजट में IPO को लेकर बड़ा ऐलान किया है. निर्मला सीतारमण ने एलआईसी (LIC) में IPO को लेकर कहा है कि इसी वित्त वर्ष में एलआईसी का आईपीओ लाया जाएगा. इसके साथ ही अगले साल कई पीएसयू कंपनियों का विनिवेश का भी प्लान सरकार ने तैयार कर लिया है. इसके लिए नए कानून बनाये जाएंगे. गौरतलब है कि पिछले कई दिनों से एलआईसी में आईपीओ लाने की बात कही जा रही थी. आज वित्त मंत्री ने इसको लेकर बड़ा ऐलान कर दिया.
ये भी पढ़ें : एक्सपर्ट्स की राय, मौद्रिक समीक्षा में ब्याज दरों को जस का तस रख सकता है RBI

IPO में निवेशकों की खासी रुचि- पिछले साल यानी 2020 में जितने भी आईपीओ आए उन्हें जबरदस्त रेस्पॉन्स मिला. इस साल भी अब तक के आईपीओ को अच्छा सब्सक्रिप्शन मिलता दिख रहा है. अब सेबी भी चाह रहा है कि और ज्यादा निवेशक आईपीओ बाजार में आए. इसलिए वह आईपीओ के तहत आवेदन किए जाने वाले शेयरों की एक लॉट की कीमत को घटाना चाह रहा है. सेबी से जुड़े जानकारों का कहना है कि पूंजी बाजार नियामक एक लॉट के तहत 7500 रुपये के निवेश को अनुमति दे सकता है. फिलहाल 15 हजार रुपये का एक लॉट होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज