Home /News /business /

ऐसा होगा आम बजट 2022 के सेशन का शेड्यूल, जानिए तारीख, समय और बाकी जानकारियां

ऐसा होगा आम बजट 2022 के सेशन का शेड्यूल, जानिए तारीख, समय और बाकी जानकारियां

1 फरवरी 2022 को आम बजट (Union Budget 2022) देश के सामने रखा जाएगा. सत्र का पहला भाग 11 फरवरी को खत्म होगा.

1 फरवरी 2022 को आम बजट (Union Budget 2022) देश के सामने रखा जाएगा. सत्र का पहला भाग 11 फरवरी को खत्म होगा.

Union Budget 2022: संसद (Parliament) का बजट सत्र (Budget Session 2022) 31 जनवरी को दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ शुरू होगा और 8 अप्रैल को खत्म होगा. ये जानकारी न्यूज एजेंसी PTI ने शेयर की है.

नई दिल्ली. संसद (Parliament) का बजट सत्र (Budget Session 2022) 31 जनवरी को दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ शुरू होगा और 8 अप्रैल को खत्म होगा. ये जानकारी न्यूज एजेंसी PTI ने शेयर की है. PTI के मुताबिक, सूत्रों ने शुक्रवार को संसदीय मामलों की कैबिनेट समिति की सिफारिश का हवाला देते ये जानकारी दी है.

1 फरवरी 2022 को आम बजट (Union Budget 2022) देश के सामने रखा जाएगा. सत्र का पहला भाग 11 फरवरी को खत्म होगा. सूत्रों ने बताया कि एक महीने के अवकाश के बाद सत्र का दूसरा भाग 14 मार्च से शुरू होगा और आठ अप्रैल को खत्म होगा.

ये भी पढ़ें – बजट से पहले Zerodha के निखिल कामत ने छोटे निवेशकों को दी सलाह, मान लेंगे तो फायदे में रहेंगे!

बजट से मध्यम वर्ग की उम्मीदें
भारत में ओमिक्रॉन केसेज़ में अचानक बढ़ोतरी के बीच, सभी की निगाहें इस साल के केंद्रीय बजट पर होंगी. आयकर के तहत मानक कटौती की सीमा बढ़ाने के लिए Covid-19 राहत से, मध्यम वर्ग केंद्रीय बजट 2022 में वित्त मंत्री से कई उपायों की उम्मीद कर रहा है.

मनीकंट्रोल की एक खबर के मुताबिक, संसदीय कार्य मंत्रालय के अतिरिक्त महासचिव के एक पत्र में कहा गया है, “राज्यसभा का 256वां सत्र (बजट सत्र – 2022) सोमवार, 31 जनवरी को बुलाया गया है और सरकारी कामकाज की अत्यावश्यकताओं के अधीन, सत्र शुक्रवार, 8 अप्रैल को खत्म हो सकता है. इस अवधि के दौरान, सभापति से अनुरोध किया जा सकता है कि वह राज्य सभा को शुक्रवार, 11 फरवरी को स्थगित कर दें ताकि वह सोमवार, 14 मार्च को फिर से बैठक कर सके, ताकि विभाग-संबंधित संसदीय स्थायी समितियां मंत्रालयों/विभागों से संबंधित अनुदान मांगों पर विचार कर सकें और उनकी रिपोर्ट तैयार कर सकें.”

ये भी पढ़ें – थोक महंगाई दर में आई गिरावट, जानिये कौन से सेगमेंट में कितना हुआ बदलाव

Incred के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर और ग्रुप CFO विवेक बंसल ने कहा, “धारा 80C भारत में ज्यादातर व्यक्तियों के लिए टैक्स बचत के लिए है. 1.5 लाख रुपये की वर्तमान सीमा बहुत ज्यादा प्रतिबंधात्मक हो जाती है और इस प्रकार अतिरिक्त निवेश के अवसरों की पेशकश करके क्षितिज को व्यापक बनाने की जरूरत है.”

Tags: Budget

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर