केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश को दी बड़ी सौगात, 15592 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा 1411 किमी NH

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी
केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शुक्रवार को 16 राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway) परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 11:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आंध्र प्रदेश में लोगों और सामानों की आवाजाही ज्यादा सुगम होगी. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शुक्रवार को 16 राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway) परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया. वहीं, आंध्र प्रदेश में 15592 करोड़ रुपये की लागत से 1411 किमी का राष्ट्रीय राजमार्ग तैयार होगा. केंद्र में मोदी सरकार के आने से पहले यानि मई 2014 से पहले आंध्र प्रदेश में महज 4193 किमी लंबी राष्ट्रीय राजमार्गों का नेटवर्क था. पिछले छह सालों में 66 फीसदी बढ़कर यह बढ़कर यह 6860 किमी हो गया है.

साल 2014 के बाद आंध्र प्रदेश में 2667 किमी नए राजमार्गों का निर्माण किया गया है. 34,100 करोड़ रुपये की लागत आंध्र प्रदेश में कई राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाएं साल 2024 तक पूरा करने का भी लक्ष्य है. ये परियोजनाएं डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट यानी डीपीआर के स्तर पर हैं. यहीं नहीं करीब 25,440 करोड़ रुपये की लागत से कई सड़क परियोजनाओं के काम प्रगति पर है. केंद्रीय मंत्री ने जानकारी दी कि 18100 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के काम 50-60 फीसदी तक पूरा हो चुका है. आंध्र प्रदेश के सड़क परियोजनाओं से जुडे़ लंबित मुद्दों का हल निकालने के लिए नितिन गड़करी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री को दिल्ली आने का न्यौता दिया. केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से अपील की है कि भूमि अधिग्रहण के लिए मुआवजा देने की प्रक्रिया और टोल प्लाजा से संबंधित मामलों में तेजी लाए.

भारतमाला परियोजना के तहत आंध्र प्रदेश में 5000 किमी एनएच हो रहा है तैयार
सर्वमान्य कहावत है कि जिस देश में बेहतर रोड कनेक्टिविटी होती है, उस देश की अर्थव्यवस्था भी काफी मजबूत होती है. इसी तथ्य के आधार पर मोदी सरकार पहले दिन से ही देश में सड़क इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में जी-जान से जुटी है. भारतमाला परियोजना के तहत देश में 35 हजार किमी राष्ट्रीय राजमार्ग बनाया जा रहा है. आंध्र प्रदेश में भी 5000 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग इस परियोजना के तहत विकसित किया जा रहा है. इसके अलावा प्रदेश में 400 किमी पोर्ट कनेक्टिविटी रोड़ का भी निर्माण किया जायेगा. इस परियोजना के तहत 335 किमी लंबी अनंतपुर-अमरावती एक्सप्रेस वे का निर्माण किया जा रहा है. इस एक्सप्रेस वे के निर्माण में करीब 20 हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा. केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने उम्मीद जताई कि इससे प्रदेश की राजधानी क्षेत्र,तटीय क्षेत्र और उत्तरी क्षेत्रों में कनेक्टिविटी बढ़ेगी और अर्थव्यवस्था भी सुदृढ़ होगी. इसके अलावा 262 किमी लंबी बेंगलुरु-चेन्नई एक्सप्रेस वे भी भारतमाला परियोजना के तहत विकसित किया जा रहा है.
आंध्र प्रदेश में इन सड़क परियोजनाओं पर चल रहा है काम


8306 करोड़ रुपये की लागत वाली 637 किमी लंबी सड़क परियोजनाओं का काम इसी वित्त वर्ष में पूरा हो जाएगा, जिसमें से 3850 करोड़ रुपये की लागत की 150 किमी लंबी 8 प्रोजेक्ट एनएचएआई द्वारा विकसित किया जा रहा है. जबकि 4456 करोड़ रुपये की लागत से 487 किमी लंबी 19 परियोजनाएं सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा तैयार किया जा रहा है. यहीं नहीं 11,712 करोड़ रुपयेकी लागत से 535 किमी लंबी सड़क परियोजनाओं का ठेका इसी वर्ष दिया जाएगा, जिसमें से 9071 करोड़ रुपये की लागत की 217 किमी लंबी सड़क परियोजना एनएचएआई द्वारा तैयार किया जाएगा. जबकि 2642 करोड़ रुपये की लागत से 318 किमी लंबी 9 सड़क परियोजनाओं का काम सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा पूरा किया जाएगा.



आंध्र प्रदेश में 34133 करोड़ रुपये की लागत से 2371 किमी लंबी सड़क परियोजनाओं का काम डीपीआर स्टेज पर है. इसमें से 19559 करोड़ रुपये की लागत की 713 किमी सड़क एनएचएआई द्वारा बनाया जाना है और 7004 लागत की 404 किमी लंबी और 7570 करोड़ रुपये की लागत से 1254 किमी लंबी सड़कों का निर्माण सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा तैयार किया जाएगा. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने प्रदेश के 8 सड़कोंं के निर्माण को प्राथमिकता देने की अपील केंद्र सरकार से की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज