नोएडा में शुरू करें अपना बिज़नेस, योगी सरकार दे रही है ज़मीन, यहां पढ़ें पूरी जानकारी

यमुना प्रधिकरण के अफसरों की मानें तो इस योजना में करीब 550 प्लाट ऐसे होंगे जो सिर्फ हैंडीक्राफ्ट और ट्वॉय इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को ही दिए जाएंगे.

यमुना प्रधिकरण के अफसरों की मानें तो इस योजना में करीब 550 प्लाट ऐसे होंगे जो सिर्फ हैंडीक्राफ्ट और ट्वॉय इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को ही दिए जाएंगे.

नोएडा में हैंडीक्राफ्रट और टॉय से जुड़े बिज़नेस शुरू करने का शानदार मौका है. इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ज़मीन भी मुहैया करा रही है, जोकि जेवर एयरपोर्ट के पास होगा. करीब ऐसे 550 प्लाट हैं, जिन्हें पहले आओ और पहले पाओ बेसिस पर दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 11:57 AM IST
  • Share this:
नोएडा. अगर आप बिजनेस (Business) करने की सोच रहे हैं, और आपका बिजनेस हैंडीक्राफ्ट (Handicraft) और ट्वॉय (Toy) इंडस्ट्री से जुड़ा है तो आपके लिए एक बड़ी खुशखबरी है. नोएडा (Noida) में यह बिजनेस करने पर यूपी सरकार (UP Government) आपको ज़मीन देगी. अगले कुछ दिनों में ज़मीन आवंटन से जुड़ी प्रक्रिया शुरु होने की उम्मीद है. इस योजना के तहत आपको ज़मीन की जैसी जरूरत होगी उसी तरह से आवंटन हो जाएगा. खास बात यह है कि यह ज़मीन इंटरनेशनल जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) के पास दी जा रही है. लेकिन ज़मीन का आवंटन पहले आओ और पहले पाओ के आधार पर किया जाएगा.

यमुना प्रधिकरण के अफसरों की मानें तो इस योजना में करीब 550 प्लाट ऐसे होंगे जो सिर्फ हैंडीक्राफ्ट और ट्वॉय इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को ही दिए जाएंगे. इसके अलावा कुछ ऐसे प्लाट भी होंगे जो दूसरा बिजनेस करने वालों को दिए जाएंगे. यह योजना यमुना प्रधिकरण के सेक्टर 29, 32 और 33 में शुरु की जा रही है.

इस योजना की खास बात यह है कि 4 हजार वर्ग मीटर से छोटे प्लाट का आवंटन लाटरी से किया जाएगा. जबकि इससे बड़े जितने भी प्लाट होंगे उनका आवंटन सिर्फ इच्छुक उम्मीदवार के साक्षात्कार के आधार पर किए जाएंगे. लेकिन प्लाट की कीमत बोली के आधार पर तय होगी. जो उम्मीदवार प्रधिकरण की तय कीमत से अधिक बोली लगाएगा उसी को प्लाट का आवंटन किया जाएगा.

जेवर एयरपोर्ट के लिए शुरू होगी मेट्रो की एक्सप्रेस लाइन, 120 किमी की रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेन
गौतमबुद्ध नगर और बुलंदशहर के गा बनेगा नया नोएडा

गौतमबुद्ध नगर-

आनंदपुर, बील अकबरपुर, बेरंगपुर उर्फ नई बस्ती, चंद्रावल, चीरसी, चीती, छयासा, दयानगर, देवटा, फजलपुर, खण्डेरा गिरजापुर, कोट, मिल्क खण्डेरा, नगला चमरू, नगला चीती, नगला नैनसुख, फूलपुर, रघुनाथपुर पार्ट, राजपुर कलां और शाहपुर खुर्द गांव शामिल है.



बुलंदशहर -

अगराई, आशादेवी उर्फ पूरणगढ़, आसफपुर, बडौदा, भराना, भटोला, भौखेड़ा, बिरौंदी फौलादपुर, बिरौंदा ताजपुर, बिस्वाना, बोड़ा, बुटाना, चंद्रावली, चोला, दीनौल, धरौड, धमेड़ा नारा, धीमरी ऐदलपुर, दूल्हेरा, फरीदपुर,  गोपालपुर, हसनपुर जागीर, हृदयपुर, जोखाबाद, जोली, काहीरा, कैथरा, कनवाड़ा, कौराली, खैरपुर तिला, किशनपुर, कोनाडु, लौथर, लुहाकर, महिपा जागीर, मोहिद्दीनपुर नगला, मेहताब नगर, मलहपुर, मसौता, मोरादाबाद, नगला बड़ौदा, नगला शेख, नैथला हसनपुर, नेकमपुर उर्फ बिशनपुर, निजामपुर, पचौता, पीर बियाबानी, राजारामपुर, राजपुर खुर्द, रूपवास पंचगई, सब्दलपुर, सैंथली, सराय घासी, सेनवाली, शाहपुर कला, सिखेड़ा, सुतारी, तालाबपुर उर्फ कनकपुर, उमरा और लाबबाया गांव शामिल होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज