87 लाख पेंशनभोगियों को इस राज्य सरकार ने दिया तोहफा! एक साथ भेजा 3 महीने की पेंशन का पैसा

  87 लाख पेंशनभोगियों को इस राज्य सरकार ने दिया तोहफा! 3 महीने की पेंशन भेजी
87 लाख पेंशनभोगियों को इस राज्य सरकार ने दिया तोहफा! 3 महीने की पेंशन भेजी

यूपी सरकार ने 86 लाख से ज्‍यादा पेंशनधारकों (Pension holders get 3 month Pension) के खाते में 3 महीने की पेंशन (Pension) एक साथ भेजी है. इन लोगों के खाते में पहुंचे 1500-1500 रुपए..

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 12:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्‍तर प्रदेश (Uttar pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने सरकार पेंशन पाने वालों को बड़ा तोहफा दिया है. यूपी सरकार ने 86 लाख से ज्‍यादा पेंशनधारकों (Pension holders get 3 month Pension) के खाते में 3 महीने की पेंशन (Pension) एक साथ भेजी है. योगी के मुताबिक इन लोगों में सीनियर सिटीजन, दिव्यांगजन और कुष्ठावस्था पेंशन के 86,95,027 लाभार्थी शामिल हैं. इनके खाते में पेंशन की तीन महीने की किस्त के 1311.05 करोड़ रुपये ऑनलाइन भेजे गए है.

हर पेंशनधारक के खाते में भेजे 1500 रुपए
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार को सरकार ने 49,87,054 सीनियर सिटीजन को 748.06 करोड़ रुपए भेजे गए हैं जबकि दिव्यांगजन पेंशन के 10,90,436 लाख लाभार्थियों को 163.57 करोड़ और 26,06213 बेसहारा महिलाओं को 390.93 करोड़, कुष्ठावस्था पेंशन योजना के 11,324 लाभार्थियों को 8.49 करोड़ तीन महीने - जुलाई, अगस्त और सितंबर की पेंशन दी गई है. हर बेनिफिशिएरी के खाते में 1500-1500 रुपये भेजे गए हैं.

ये भी पढ़ें:- पोस्ट ऑफिस में PPF-NSC-KVP जैसी स्कीम में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर
केंद्र और राज्य सरकार की योजना का हिस्सा है ये पेंशन


आपको बता दें कि सरकार यह रकम इन लोगों को उनके खाने-पीने के लिए देती है. यह केंद्र और राज्य सरकार की योजना का हिस्सा है. योगी के मुताबिक हमें PM का आभार जताना चाहिए, जिनके कारण आज हर किसी के बैंक खाते में सीधे रकम पहुंच रही है और बड़ी संख्या में लाभार्थी सरकार की योजनाओं का फायदा उठा पा रहे हैं.

सीएम ने कहा कि अप्रैल 2020 से एक महीने में दो बार लाभार्थियों को राशन दिया जा रहा है, ग्राम प्रधानों (ग्राम प्रधानों) और स्थानीय निकायों से कहा गया है कि वे आयुष्मान या मुख्मंत्री से जुड़े नहीं होने पर गरीबों को चिकित्सा के लिए 1,000 रुपये प्रदान करें. साथ ही ग्राम प्रधानों या स्थानीय निकाय कोष से निराश्रित व्यक्तियों के अंतिम संस्कार के लिए 5,000 रुपये की व्यवस्था करने के लिए जिला मजिस्ट्रेटों को निर्देश जारी किए जाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज