• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • उड़द, अरहर दालों के पर लगी ये रोक हटाने की तैयारी! किसानों को होगा फायदा

उड़द, अरहर दालों के पर लगी ये रोक हटाने की तैयारी! किसानों को होगा फायदा

उड़द, अरहर दालों के पर लगी ये रोक हटाने की तैयारी! किसानों को होगा फायदा

उड़द, अरहर दालों के पर लगी ये रोक हटाने की तैयारी! किसानों को होगा फायदा

सीएनबीसी आवाज को सूत्रों की ओर से मिली जानकारी में पता चला है कि सरकार किसानों के हित में दालों की फ्यूचर ट्रेडिंग को शुरू करने की इज़ाजत दे सकती है. उपभोक्ता मंत्रालय रोक हटाने के लिए सहमत हो गया है.

  • Share this:
    उड़द, अरहर दालों पर फ्यूचर बाजार में ट्रेडिंग के लिए लगी रोक हटाने की तैयारी की जा रही है. सीएनबीसी आवाज को सूत्रों की ओर से मिली जानकारी में पता चला है कि सरकार किसानों के हित में दालों की फ्यूचर ट्रेडिंग को शुरू करने की इज़ाजत दे सकती है. उपभोक्ता मंत्रालय रोक हटाने के लिए सहमत हो गया है. अगले हफ्ते ये प्रस्ताव सेबी को भेजा जा सकता है. आपको बता दें कि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर 1 अक्टूबर से कमोडिटी डेरिवेटिव ट्रेडिंग शुरू हो चुकी है. इसमें अब विदेशी निवेशक भी हिस्सा ले सकते हैं.

    किसानों को होगा फायदा-सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि दालों की फ्यूचर ट्रेडिंग शुरू होने से कीमतों को सहारा मिलेगा और सही दाम तय हो पाएंगे. लिहाजा किसान अपनी उपज पर ज्यादा मुनाफा कमा पाएंगे.(ये भी पढ़ें-नवंबर से 40 लाख बैरल तेल की सप्लाई करेगा सऊदी, ट्रंप की धमकी का असर!)

    शुरू हो चुकी ट्रेडिंग- शुरुआत मेटल्स में ट्रेडिंग के साथ की जाएगी। बीएसई को सेबी से सोने और चांदी के डिलिवरी आधारित वायदा कॉन्ट्रैक्ट को भी शुरू करने की इजाजत मिल गई है. सोने में 1 किलो और चांदी में 30 किलो के कॉन्ट्रैक्ट के साथ शुरुआत होगी. शुरुआती दौर में सोने-चांदी के लिए डिलिवरी सेंटर अहमदाबाद में होगा. बाद में इसे पूरे देश में फैलाया जाएगा. कमोडिटी मार्केट में कारोबारियों को खींचने के लिए पहले साल में कमोडिटी मार्केट के ऑपरेशंस में ट्रांजैक्शन फीस को हटा दिया गया है.(ये भी पढ़ें-ईमानदार टैक्सपेयर्स को VIP बनाएगी सरकार, फ्री में देगी ये सुविधाएं)



    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज