जियो प्लेटफॉर्म्स में 730 करोड़ रुपये का निवेश करेगी अमेरिका की Qualcomm, 12 सप्ताह में तेरहवां निवेश

जियो प्लेटफॉर्म्स में 730 करोड़ रुपये का निवेश करेगी अमेरिका की Qualcomm, 12 सप्ताह में तेरहवां निवेश
जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश करेगी क्वॉलकम इंक.

फेसबुक और इंटेल जैसी दिग्गज कंपनियों के बाद अब अमेरिका की Qualcomm Inc. भी Jio Platforms में निवेश करेगी. कंपनी ने कहा कि वो 0.15 फीसदी स्टेक के लिए 730 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. इस प्रकार जियो ने निवेश से अब तक 1,18,318.45 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 12:27 AM IST
  • Share this:
मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) की डिजिटल ईकाई जियो प्लेटफॉर्म्स (Jio Platforms) में अब अमेरिका की Qualcomm Inc. भी 0.15 फीसदी स्टेक के लिए 730 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. जियो प्लेटफॉर्म्स के लिए यह लगातार तेरहवीं डील है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और सेमीकंडक्टर कंपनी इंटेल (Intel) के बाद क्वॉलकम तीसरी स्ट्रै​टेजिक इन्वेस्टर है, जो जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश कर रही है.

12 सप्ताह में ​जियो प्लेटफॉर्म्स ने 25.24 फीसदी हिस्सेदारी के जरिए अब तक 1,18,318.45 करोड़ रुपये जुटाने का ऐलान किया है. इसमें दुनिया के कुछ प्रमुख टेक इन्वेस्टर्स (Tech Investors In Jio) शामिल हैं. सबसे पहले 22 अप्रैल को फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 9.99 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 43,574 करोड़ निवेश करने का ऐलान किया था. इसके बाद जनरल अटलांटिक, KKR, सऊदी सॉवरेन वेल्थ फंड, अबु धाबी स्टेट फंड, सऊदी अरब की PIF और Intel जैसे ग्लोबल इन्वेस्टर्स (Global Investors in Jio Platforms) ने भी जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश करने का ऐलान किया है.

Qualcomm का हेडक्वॉर्टर अमेरिका के कैलिफोर्निया में है और यह कंपनी वायरलेस टेक्नोलॉजी क्षेत्र की कंपनी है. इस कंपनी के पास 3G, 4G और 5G जैसे वायरलेस टेक्नोलॉजी में काम करने की विशेषज्ञता हासिल है. क्वॉलकम की टेक्नोलॉजी और प्रोडक्ट का इस्तेमाल दुनियाभर के मोबाइल डिवाइसेज और वायरलेस प्रोडक्ट्स में होता है.



स्मार्टफोन बनाने वाली कुछ प्रमुख कंपनियां क्वॉलकम की स्नैपड्रैगन (Qualcomm's Snapdragon) सिस्टम का इस्तेमाल करती हैं. इस कंपनी की टेक्नोलॉजी और प्रोडक्ट ऑटोमोटिक, कम्प्यूटर और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) में भी इस्तेमाल किया जाता है. वैश्विक स्तर पर इस कंपनी के पास बड़ी संख्या में पेटेंट हैं. भारत में भी इस कंपनी ने सबसे ज्यादा पेटेंट फाइल किया है.
इसके पहले 3 जुलाई को रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इंटेल कैपिटल के साथ डील का ऐलान किया था. यह कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स में 0.39 फीसदी की हिस्सेदारी के लिए 1,894.50 करोड़ रुपये का निवेश करेगी.

जियो प्लेटफॉर्म्स अब दुनिया की इकलौती ऐसी कंपनी बन गई है, जिसने लगातार इतने बड़े स्तर पर फंड जुटाया है. अगर तुलनात्मक रूप से देखें तो पिछले साल भारत में स्टार्टअप इकोसिस्टम ने 1.10 लाख करोड़ रुपये जुटाया था. फंट जुटाने के मामले में यह सबसे बेहतरीन साल बताया गया. डिसक्लेमर - न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading