कोरोना इम्पैक्ट: अमेरिका का बजट घाटा रिकॉर्ड स्तर पर स्तर पर पहुंचा

कोरोना इम्पैक्ट: अमेरिका का बजट घाटा रिकॉर्ड स्तर पर स्तर पर पहुंचा
अमेरिका का बजट घाटा रिकॉर्ड स्तर पर

US budget deficit: अमेरिका सरकार को कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के प्रभाव को कम करने के लिए बड़ी राशि खर्च करनी पड़ी है, जिससे असर बजट घाटे पर पड़ा है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 13, 2020, 10:48 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका का बजट घाटा (US Budget Deficit) चालू बजट वर्ष के पहले 11 माह में 3,000 अरब डॉलर के सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गया है. वित्त विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. अमेरिका सरकार को कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के प्रभाव को कम करने के लिए बड़ी राशि खर्च करनी पड़ी है, जिससे असर बजट घाटे पर पड़ा है.

कोरोना से अमेरिका में गई लाखों नौकरियां
महामारी की वजह से अमेरिका में लाखों नौकरियां चली गई हैं. चालू बजट वर्ष की अक्टूबर से अगस्त की 11 माह की अवधि में बजट घाटा 3,000 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. इससे पहले 11 माह की अवधि में बजट घाटे का रिकॉर्ड 2009 में बना था. उस समय बजट घाटा 1,370 अरब डॉलर रहा था. यह 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट का दौर था. मौजूदा बजट घाटा पिछले रिकॉर्ड से दोगुना से अधिक है. अमेरिका का 2020 का बजट वर्ष 30 सितंबर को समाप्त होना है. अमेरिकी कांग्रेस के बजट कार्यालय का अनुमान है कि पूरे बजट वर्ष में बजट घाटा 3,300 अरब डॉलर रहेगा.

यह भी पढ़ें- ये हैं 6 बेस्ट जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट! तुरंत खुलेगा खाता, मिलेगा एफडी से ज्यादा मुनाफा
ऑक्सफर्ड इकॉनमिस्ट में अर्थशास्त्री नैंसी वैडन हुटन ने कहा कि सितंबर में यह घाटा 200 अरब डॉलर रहेगा जिससे पूरे साल का बजट घाटा 3200 अरब डॉलर रहेगा. यह पिछले साल के बजट घाटे से 984 अरब डॉलर अधिक है. इससे पहले अमेरिका को 2009 में वित्तीय संकट के बाद 1400 अरब डॉलर का बजट घाटा हुआ था. अगस्त के लिए घाटा कुल 200 अरब डॉलर था, जो अगस्त 2019 के घाटे के बराबर था और इससे यह पता चलता है कि राहत कार्यक्रमों के समाप्त होने के साथ, सरकार का मासिक खर्च धीमा हो गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज