Covid-19: भारत की मदद के लिए अमेरिकी कंपनियों ने बढ़ाया हाथ, सहायता सामग्री भेजने में जुटी

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

भारत में कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए अमेरिका की सरकार और कंपनियां भारत के लिए राहत सामग्री भेजने में बराबर जुटे हैं.

  • Share this:

वाशिंगटन. भारत इस वक्त कोविड-19 (Covid-19) की दूसरी लहर की मार झेल रहा है. वहीं, अमेरिकी कंपनी जगत भारत को महामारी के प्रकोप का सामना करने में मदद के लिए सहायता सामग्री बढ़ाने में लगा है. कंपनियां अमेरिका से वेंटिलेटर और ऑक्सीजन कंन्सेंट्रेटर आदि भेजने में जुटी हैं ताकि वहां तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमित गंभीर मरीजों की प्राण रक्षा में मदद हो सके.

थर्मो फिशर ने शनिवार को यूनाइटेड एयरलाइन की मदद से भारत के लिए आवश्यक सहायता सामग्री की एक खेप रवाना की. कंपनी की ओर से भेजी गई सामग्री में 46 लाख वायरल ट्रांसपोर्ट मीडियम ट्यूब भी हैं जो वायरल के नमूनों को सूखने से और सूक्षम जीवाणुओं के प्रदूषण से बचाती हैं.

एमवे कंपनी ने दिया 5 लाख डॉलर का चंदा

अमेरिकन एयरलाइंस ने कहा कि वह रेडक्रास के साथ मिल कर पूरी दुनिया में कोविड19 से बचाव में लोगों की मदद कर रही है. एमवे कंपनी ने अमेरिकी वाणिज्य मंडल के नेतृत्व में काम कर रहे एक ट्रस्ट को 5 लाख डॉलर का चंदा दिया है. इससे भारत को 1000 वेंटिलेटर और 25,0000 आक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें भेजी जाएंगी.
ये भी पढ़ें- SBI ने 44 करोड़ ग्राहकों को दी बड़ी राहत! अब बस एक काॅल पर हो जाएंगे ये सारे काम, ये है नंबर

डेविड एंड कैरॉल फेमिली फाउंडेशन ने भी ढाई लाख डालर की सहायता की घोषणा की है. अमेरिका इंडिया फाउंडेशन ने कहा है कि उसे भारत में कोविड-19 मेडिकल सुविधाओं में सहायता के लिए चुब चैरिटेबल फाउंडेशन से 5 लाख रुपये की मदद मिली है. इससे अस्पतालों को 100 सुविधाओं से सुसज्जित पोर्टेबल खाट उपलब्ध कराए जाएंगे.

टास्क फोर्स में शामिल हैं अमेरिका की 45 से अधिक बड़ी कंपनियां



अमेरिका की 45 से अधिक बड़ी कंपनियां और उनके अधिकारी अमेरकी इस उद्येश्य से गठित एक टास्क फोर्स में शामिल हैं. इस टास्क फोर्स ने अब तक भारत को 25,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 1000 वेंटिलेटर भेजने की घोषणा की है. गूगल, डेलाइट, माइक्रोसॉफ्ट, वालमार्ट , बोइंग और मास्टरकार्ड जैसे कंपनियां भारत को कोविड सहायता भेजने में हाथ बंटा रहे हैं.

जो बाइडन सरकार देगी 10 करोड़ डॉलर

अमेरिका की सरकारी एजेंसी यूएसयेड अब तक भारत को छह विमानों में स्वास्थ्य सेवाओं में काम आने वाली सामग्री भेज चुकी है. जो बाइडन सरकार ने अभी भारत को 10 करोड़ डॉलर की सहायता देने की घोषणा की है और उम्मीद है कि समीक्षा के बाद राष्ट्रपति इस राशि को और बढ़ा सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज