भारत के वॉरेन बफे ने अब इस कंपनी में लगाया पैसा, आपके पास भी है कमाने का मौका

भारत के वॉरेन बफे ने अब इस कंपनी में लगाया पैसा, आपके पास भी है कमाने का मौका
27.85 लाख शेयर खरीदे

भारत के वॉरेन बफे कहे जाने वाले दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) ने गुरुवार को इंडिया इन्फोलाइन सिक्यॉरिटीज (IIFL Securities) के 27.85 लाख शेयर खरीदे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2020, 1:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के वॉरेन बफे कहे जाने वाले दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) ने गुरुवार को इंडिया इन्फोलाइन सिक्यॉरिटीज (IIFL Securities) के 27.85 लाख शेयर खरीदे हैं. एक शेयर का औसत मूल्य 42.83 रुपये है. बीएसई पर खरीदारी के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. झुनझुनवाला ने कुल 12 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे हैं. आंकड़ों के मुताबिक, अकेले सतपाल खट्टर ने आईआईएफएल सिक्यॉरिटीज के 30 लाख शेयर बेचे हैं. हर शेयर की कीमत 42.74 रुपये है.

सितंबर तिमाही के अंत में सतपाल खट्टर ने आईआईएफएल के 62.16 लाख शेयर खरीदे थे, जिसके साथ ही कंपनी में उनकी हिस्सेदारी 1.95% हो गई थी. आईआईएफएल सिक्यॉरिटीज पिछले साल मूल कंपनी से अलग होने के बाद 20 सितंबर को शेयर बाजार में सूचीबद्ध हुआ था.

ये भी पढ़ें: दूध, अंडा, प्याज और तेल के बाद चीनी होगी महंगी, जानिए क्या है बड़ी वजह



पिछले साल अलग हुई थी आईआईएफएल



पिछले साल वित्तीय सेवा कंपनी आईआईएफएल होल्डिंग्स ने अपने फाइनैंस, वेल्थ तथा कैपिटल बिजनस को तीन अलग-अलग कंपनियों में अलग करने और उन्हें शेयर बाजार में सूचीबद्ध करने की घोषणा की थी.
बीएसई पर आईआईएफएल सिक्यॉरिटीज का शेयर 20 सितंबर को 41.65 रुपये पर खुला था, जिसके बाद अक्टूबर में उसने 19.10 रुपये का निचला स्तर छू दिया था. लेकिन तब से लेकर अब तक इस शेयर में 135% की तेजी दर्ज की जा चुकी है. गुरुवार को यह शेयर बीएसई पर 4.9% की तेजी के साथ 44.95 रुपये पर बंद हुआ.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची महंगाई, 2000 रु का हुआ गैस सिलेंडर

ऐसा रहा राकेश झुनझुनवाला का सफ़र
राकेश झुनझुनवाला भारत का वारेन बफे भी कहा जाता है. उन्होंने सही स्ट्रैटजी अपनाकर शेयर बाजार से हजारों करोड़ रुपए कमाए हैं. राकेश झुनझुनवाला ने सन 1985 में स्नातक करके फुल टाइम शेयर बाजार में कारोबार शुरू किया, तब सेंसेक्स में केवल 150 कंपनियां ही लिस्टेड थीं. एक आंकलन के अनुसार, बीते एक साल में शेयर मार्केट की तेजी के दौर में उन्होने हर सप्ताह औसतन 59 करोड़ रुपए की कमाई की है. वे चाहें तो इससे हर घंटे एक मर्सिडीज बेंज या बीएमडब्ल्यू कार खरीद सकते हैं.

राकेश झुनझुनवाला कहते हैं कि तेजी में सबका फायदा और मंदी में सबका नुकसान हो, ऐसा नहीं हो सकता. इसलिए यह मायने नहीं रखता कि मैं वैश्विक कुबेरों की सूची में शामिल हुआ या नहीं. सच यह है कि मैं अपने काम को एंजॉय करता हूं, जिसका बाय प्रोडक्ट है पैसा. मेरा बिजनेस मंत्र सरल है- ‘बाय राइट एंड होल्ड टाइट’ यानी सही समय पर सही शेयर खरीदों और उसे जकड़ कर रखो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading