कमर्शियल माइनिंग: 2 नवंबर से शुरू हो रही कोयला ब्लॉक की नीलामी में शामिल होंगी ये कंपनियां

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोयला ब्लॉक (Coal Blocks) की इलेक्ट्रॉनिक नीलामी दो से नौ नवंबर तक होगी. मंत्रालय की सूचना के मुताबिक सोमवार को 5 कोयला ब्लॉक की नीलामी की जाएगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में पहली बार वाणिज्यिक खनन (Commercial Mining) के लिए सोमवार से शुरू हो रही कोयला ब्लॉक (Coal Blocks) की नीलामी में वेदांता (Vedanta), जिंदल स्टील एंड पावर (Jindal Steel and Power), अडाणी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprises), हिंडाल्को इंडस्ट्रीज (Hindalco Industries) और जेएसडब्ल्यू स्टील (JSW Steel) जैसी कंपनियां शामिल होंगी. सरकार ने इसके तहत 19 कोयला ब्लॉक रखे हैं.

दो से नौ नवंबर तक होगी नीलामी
कोयला मंत्रालय इन ब्लॉक की इलेक्ट्रॉनिक नीलामी दो से नौ नवंबर तक लगातार आठ दिन करेगा. मंत्रालय की सूचना के मुताबिक सोमवार को पांच कोयला ब्लॉक की नीलामी की जाएगी. ये ब्लॉक झारखंड में चकला, महाराष्ट्र में मारकी मांगली-2, ओडिशा में राधिकापुर (पश्चिम), महाराष्ट्र में ताक्ली-जेना-बेलोरा (उत्तर) और ताक्ली-जेना-बेलोरा (दक्षिण) एवं मध्य प्रदेश में उरतन हैं.

झारखंड के चकला ब्लॉक को पाने के लिए बोलियां लगाएंगी अडाणी 
हिंडाल्को इंडस्ट्रीज और अडाणी एंटरप्राइजेज जैसी कंपनियां नीलामी में झारखंड के चकला ब्लॉक को पाने के लिए बोलियां लगाएंगी. इसी तरह ओडिशा में राधिकापुर (पश्चिम) कोयला ब्लॉक को हासिल करने की दौड़ में जिंदल स्टील एंड पावर और वेदांता लिमिटेड होंगी.



ये भी पढ़ें- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम: 6000 रुपये की मदद चाहिए तो खुद ऐसे करें आवेदन

महाराष्ट्र में मारकी मांगली-2 कोयला ब्लॉक के लिए यजदानी इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड, आंध्र प्रदेश खनिज विकास निगम और रेफेक्स इंडस्ट्रीज बोलियां लंगाएंगी. जबकि राज्य के ताक्ली-जेना-बेलोरा (उत्तर) और ताक्ली-जेना-बेलोरा (दक्षिण) कोयला ब्लॉक के लिए ऑरबिंदो रियल्टी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर और सनफ्लैग आयरन एंड स्टील कंपनी लिमिटेड प्रतिस्पर्धा करेंगी. मध्य प्रदेश के कोयला ब्लॉक को हासिन करने की दौड़ में जेएमएस माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड और स्ट्राटाटेक मिनरल रिसोर्सेज शामिल हैं.

जून में हुई थी कोयला क्षेत्र को निजी क्षेत्र के लिए खोलने की घोषणा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के कोयला क्षेत्र को निजी क्षेत्र के लिए खोलने की घोषणा जून में की थी. सरकार की योजना कुल 41 कोयला ब्लॉकों कमर्शियल माइनिंग पर देने की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज