लाइव टीवी

नीलाम होगी विजय माल्या की आलीशान याट, ब्रिटेन की अदालत ने दिया आदेश

भाषा
Updated: January 27, 2020, 11:29 PM IST
नीलाम होगी विजय माल्या की आलीशान याट, ब्रिटेन की अदालत ने दिया आदेश
विजय माल्या

​विजय माल्या (Vijay Mallya) से कर्ज की रकम वसूलने के लिए ब्रिटेन की एक अदालत ने फोर्स इंडिया के स्वामित्व वाली आलीशान याट को बेचने और उससे प्राप्त राशि का कतर नेशनल बैंक को भुगतान करने का सोमवार को आदेश दिया

  • Share this:
लंदन. ब्रिटेन की एक अदालत ने फोर्स इंडिया (Force India) के स्वामित्व वाली लग्जरी याट को बेचने और उससे प्राप्त राशि का कतर नेशनल बैंक को भुगतान करने का सोमवार को आदेश दिया. इससे बैंक उसके पास रखी गारंटी को भुना सकेगा. ब्रिटेन में उच्च न्यायालय के एडमिरल्टी डिवीजन के समक्ष में सुनवाई के दौरान बैंक ने दावा किया कि शराब कारोबारी विजय माल्या का बेटा सिद्धार्थ माल्या इस आलीशन याट का मालिक है.

कर्ज की सिक्योरिटी में माल्या की व्यक्तिगत गारंटी
हालांकि, बैंक ने कहा कि वह मुद्दे में उलझना नहीं चाहता है और उसका 60 लाख यूरो के बकाया ऋण की वसूली से जुड़ा दावा है. लंदन में सोमवार को न्यायमूर्ति निगेल टीयरे के आदेश में कहा गया, "कर्ज के लिए दी गई जमानत (सिक्योरिटी) में माल्या द्वारा दी गई व्यक्तिगत गारंटी भी शामिल है, जो कि कर्ज लेनदार के साथ नजदीकी से जुड़ा है."

यह भी पढ़ें: 5 साल में सहकारी बैंकों में 220 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी, सामने आए 1 हजार मामले



 

SBI कंसॉर्टियम भी दावाकर्ताओं में शामिल हो सकता हैयाट फिलहाल साउथहैंपटन बंदरगाह पर जब्त है और न्यायालय द्वारा नियुक्त एडमिरल्टी मार्शल पॉल फॉरेन बकाये की वसूली के लिए पोत का मूल्यांकन करेंगे और फिर बिक्री का आयोजन करेंगे. प्रक्रिया के हिस्से के रूप में, अन्य दावाकर्ताओं को बिक्री की आय के लिए नोटिस देकर अपना दावा पंजीकृत कराना होगा. भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाला बैंकों का समूह दावाकर्ताओं में शामिल हो सकता है.

इनका है स्वामित्व
कतर नेशनल बैंक की ओर से पेश वकील गिडेऑन शिराजी ने कहा, "अदालत के आदेश का मतलब है कि याट की नीलामी की जानी चाहिए और दावाकर्ता को राशि का भुगतान किया जाना चाहिए." इस आलीशान नौका का स्वामित्व गिजमो इन्वेस्ट एसए और फोर्स इंडिया के पास है. दावा किया गया है कि जिगमो का मालिक विजय माल्या और फोर्स इंडिया का मालिक उनका बेटा सिद्धार्थ है.

यह भी पढ़ें:  मोदी सरकार के एक फैसले से चीन समेत 4 देशों को लग सकता है तगड़ा झटका!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 11:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर