PM बैंकों से क्यों नहीं कहते कि मुझसे पैसा ले लें: विजय माल्या

बता दें कि किंगफिशर के मालिक विजय माल्या को भारत लाने का रास्ता साफ हो गया है. माल्या को भारत भेजने को लेकर ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने पहले ही मंजूरी दे दी है


Updated: February 14, 2019, 10:14 AM IST
PM बैंकों से क्यों नहीं कहते कि मुझसे पैसा ले लें: विजय माल्या
विजय माल्या की फाइल फोटो

Updated: February 14, 2019, 10:14 AM IST
भारत वापस आने से डर रहे भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या कि बेचैनी लगातार बढ़ रही है. उन्होंने ट्वीट करते कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बैंको से क्यों नहीं कहते हैं कि वो उनसे पैसे लें. माल्या के मुताबिक उन्होंने पहले ही सेटलमेंट का ऑफर दे दिया है. गुरुवार  सुबह विजय माल्या ने अपने बचाव में एक के बाद एक चार ट्वीट कर डाले.

बता दें कि पिछले दिनों लोकसभा में पीएम मोदी ने बिना नाम लिये माल्या पर बड़ा हमला किया था. लोकसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, 'जो लोग देश से भाग गए हैं , वो ट्विटर पर रो रहे हैं कि मैं तो 9 हजार करोड़ रुपये लेकर निकला था, लेकिन मोदी जी ने मेरे 13 हजार करोड़ जब्त कर लिए.'

ये भी पढ़ें: 1 लाख रुपये लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने हो सकती है 14 हजार तक की कमाई



माल्या ने पीएम मोदी के इसी बात का ट्विटर पर जवाब दिया है. माल्या ने लिखा है, ''पीएम के पिछले भाषण के बारे में मुझे पता चला. वो बहुत अच्छे वक्ता है. उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि एक आदमी 9000 करोड़ रुपये ले कर भाग गया है. उनका इशारा मेरी तरफ था. मैं बड़े ही आदर से पीएम से पूछना चाहता हूं कि आखिर क्यों वो बैंक को मेरे से पैसा लेने को नहीं कहते हैं. कम से कम इससे पब्लिक फंड की रिकवरी हो जाएगी. मैंने कर्नाटाक हाई कोर्ट में सेटलमेंट का ऑफर पहले ही दे दिया है.''


Loading...



बता दें कि किंगफिशर के मालिक विजय माल्या को भारत लाने का रास्ता साफ हो गया है. माल्या को भारत भेजने को लेकर ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने पहले ही मंजूरी दे दी है.

ये भी पढ़ें: Train 18: 'वंदे भारत एक्सप्रेस' के ट्रैवल टाइम से लेकर किराये से जुड़ी सभी बड़ी बातें, फटाफट जानें

कितने कर्जदार हैं माल्या- माल्या पर बैंकों का लगभग 9400 करोड़ रुपए बकाया है. उनके खिलाफ 17 बैंकों के कंसोर्शियम ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दाखिल की थी. माल्या की तरफ से कहा गया है कि तेल के रेट बढ़ने, ज्यादा टैक्स और खराब इंजन के चलते उनकी किंगफिशर एयरलाइन्स को 6,107 करोड़ का घाटा उठाना पड़ा था. हालांकि वह अभी करीब 1800 करोड़ रुपए के विलफुल डिफॉल्टर हैं. बाकी बैंक अब भी माल्या के खिलाफ कोर्ट नहीं गए हैं.

ये भी पढ़ें:

'गले पड़ने, आंखों की गुस्‍ताखियां' से मुलायम के आशीर्वाद तक, PM के भाषण की 10 बड़ी बातें

राफेल: CAG रिपोर्ट के बाद PM का राहुल पर तंज, आंखों की गुस्ताखियों का खेल पता चला

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर