Jio प्लेटफॉर्म में Vista Equity करेगी 11,367 करोड़ रुपये का निवेश

Jio प्लेटफॉर्म में Vista Equity करेगी 11,367 करोड़ रुपये का निवेश
2.3 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी

प्राइवेट इक्विटी विस्टा इक्विटी पार्टनर्स (Vista Equity Partners) जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड (Jio Platforms Limited) की 2.3 फीसदी हिस्सेदारी 11,367 करोड़ रुपये में खरीदेगी.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. प्राइवेट इक्विटी विस्टा इक्विटी पार्टनर्स (Vista Equity Partners) जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड (Jio Platforms Limited) की 2.3 फीसदी हिस्सेदारी 11,367 करोड़ रुपये में खरीदेगी. रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) और जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड ने आज इसकी घोषणा की. यह निवेश Jio प्लेटफॉर्म की 4.91 लाख करोड़ की वैल्यू पर होगा और इंटरप्राइजेज वैल्यू अब 5.16 लाख करोड़ रुपये हो जाएगी. अमेरिका बेस्ड प्राइवेट इक्विटी फर्म Vista Equity Partners दुनिया की सबसे बड़ी विशेष रूप से टेक फोकस्ड फंड है. अप्रैल में घोषित फेसबुक सौदे के मुकाबले विस्टा का निवेश 12.5 प्रतिशत प्रीमियम पर है.

रिलायंस जियो में तीसरा बड़ा निवेश
यह रिलायंस जियो में तीसरा हाई प्रोफाइल निवेश है. फेसबुक ने जियो में 9.9 प्रतिशत हिस्सेदारी 43,534 करोड़ रुपये में और सिल्वर लेक ने 1.55% हिस्सेदारी के लिए 5655 करोड़ का निवेश किया. इस हफ्ते की शुरुआत में Jio में सिल्वर लेक द्वारा किया गया निवेश भी फेसबुक सौदे के समान प्रीमियम पर था. तीन हफ्ते के अंदर जियो प्लेटफॉर्म्स ने टेक्नोलॉजी इन्वेस्टर्स से 60,596.37 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

2016 में हुई थी जियो की शुरुआत



जियो की शुरुआत 2016 में हुई थी. धीरे-धीरे इसने टेलिकॉम इंडस्ट्री में अपनी धाक जमा ली. टेलीकॉम और ब्रॉडबैंड से लेकर ई कॉमर्स में इसने अपना विस्तार किया और 38 करोड़ ग्राहकों तक पहुंच गई. भारत में फेसबुक के 400 मिलियन यूजर्स हैं. कंसल्टेंसी पीडब्ल्यूसी के अनुसार, भारत में साल 2022 में इंटरनेट यूजर्स की संख्या बढ़कर 850 मिलियन होने की उम्मीद है.



भारत में विस्टा का पहला बड़ा निवेश
भारत में विस्टा का यह पहला बड़ा निवेश है. विस्टा का शुरुआती चरण में तकनीकी कंपनियों में निवेश करने का एक ट्रैक रिकॉर्ड रहा है. इसका प्रत्येक निवेश 10 वर्षों में प्रॉफिटेबल रहा है. विस्टा का निवेश अगली पीढ़ी के सॉफ्टवेयर और प्लेटफॉर्म कंपनी के रूप में Jio को प्रदर्शित करता है. यह Jio की तकनीकी क्षमताओं का समर्थन भी है और इस COVID-19 की इस दुनिया में और उससे आगे भी बिजनेस मॉडल की क्षमता है.

जियो की लॉन्चिंग के बाद रिलायंस देश की एकमात्र ऐसी कंपनी के रूप में उभरी है, जो तेजी से बढ़ते भारतीय बाजार में अमेरिकी तकनीकी समूहों के साथ प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम है. रिलायंस ने मोबाइल टेलीकॉम से लेकर होम ब्रॉडबैंड तक हर चीज में ई-कॉमर्स का विस्तार किया है.

डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.
First published: May 8, 2020, 8:00 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading