होम /न्यूज /व्यवसाय /Vodafone Idea के आ सकते हैं अच्छे दिन, कुमार मंगलम बिड़ला कर सकते हैं 1,000 करोड़ रु. का निवेश: सूत्र

Vodafone Idea के आ सकते हैं अच्छे दिन, कुमार मंगलम बिड़ला कर सकते हैं 1,000 करोड़ रु. का निवेश: सूत्र

वोडाफोन इंडिया (Vodafone Idea) ने सरकार को जानकारी दी है कि वह चार साल के स्पेक्ट्रम पेमेंट पर मोरेटोरियम को मंजूर कर रही है. वह पहली टेलिकॉम कंपनी बन गई है.

वोडाफोन इंडिया (Vodafone Idea) ने सरकार को जानकारी दी है कि वह चार साल के स्पेक्ट्रम पेमेंट पर मोरेटोरियम को मंजूर कर रही है. वह पहली टेलिकॉम कंपनी बन गई है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कुमार मंगलम बिड़ला इस भावना से कंपनी में 1000 करोड़ रुपये के आसपास इन्फ्यूज कर सकते ...अधिक पढ़ें

    मुंबई . वोडाफोन आइडिया के अच्छे दिन आ सकते हैं. संकटों से जूझ रही कंपनी को सरकार के राहत उपायों से कुछ राहत मिली है. कंपनी की हालत देखते हुए इसमें पूंजी डालने की सख्त जरूरत महसूस हो रही है. कंपनी का कर्ज कम हुआ है लेकिन अभी भी काफी ज्यादा कर्ज कंपनी पर है.

    इस मामले से जुड़े सूत्रों के हवाले से मनीकंट्रोल को मिली जानकारी के मुताबिक, प्रमोटर कुमार मंगलम बिड़ला ने कंपनी में अपना विश्वास जाहिर करने और कंपनी में निवेशकों का भरोसा बढ़ाने के लिए टोकन निवेश कर सकते हैं.

    1000 करोड़ रुपये का निवेश संभव 
    सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कुमार मंगलम बिड़ला इस भावना से कंपनी में 1000 करोड़ रुपये के आसपास इन्फ्यूज कर सकते हैं. बता दें कि वोडाफोन आइडिया टेलीकॉम सेक्टर के लिए राहत पैकेज से ऐलान के बाद निवेश के लिए निवेशकों को आकर्षित करने की कोशिश में है. ऐसी स्थिति में प्रमोटर द्वारा कंपनी में पैसे डाले जाने से निवेशकों में आत्मविश्वास बढ़ेगा और वो इस संकट से जूझ रही कंपनी में पैसे डालने के लिए आगे आ सकते हैं.

    यह भी पढ़ें- Gold Price: दिवाली तक सोना 49 हजार रु. तक जा सकता है, वैश्विक कारकों से कीमत बढ़ने का अनुमान

    अन्य निवेश भी संभव 
    मनीकंट्रोल को सूत्रों से ये जानकारी भी मिली है कि सरकार और वी (Vi)के बीच कंपनी में प्रमोटरों वोडाफोन पीएलसी और आदित्य बिड़ला ग्रुप की तरफ से 10 हजार करोड़ रुपये जैसी बड़ी राशि डालने के लिए कोई करार नहीं हुआ है. बता दें कि आदित्य ग्रुप के चेयरमैन के एम बिड़ला वी के चेयरमैन पद से हट गए हैं. लेकिन उन्होंने टेलीकॉम सेक्टर के राहत पैकेज के लिए सरकार को मनाने की अपनी पूरी कोशिश की है. इससे कंपनी में बाहरी नकदी आ सकती है.

    सूत्रों से ये जानकारी भी मिली है कि कंपनी में केएम बिड़ला की तरफ से यह टोकन निवेश बिड़ला ग्रुप के किसी लिस्टेड कंपनी के जरिए हो सकती है. लेकिन इस बात की पूरी संभावना है कि केएम बिड़ला यह निवेश अपनी स्वामित्व वाली किसी कंपनी के जरिए व्यक्तिगत तौर पर करेंगे. मनी कंट्रोल को इस सदर्भ में आदित्य बिड़ला ग्रुप, वोडाफोन पीएलसी और वी की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला है.

    Tags: Business news, Deals of the Day, Telecom business, Vodafone, Vodafone-Idea merger

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें