होम /न्यूज /व्यवसाय /

आइडिया-वोडाफोन विलय को सरकार ने दी मंजूरी

आइडिया-वोडाफोन विलय को सरकार ने दी मंजूरी

(सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

विलय के बाद बनने वाली कंपनी देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी होगी जिसका मूल्य डेढ़ लाख करोड़ रुपये से अधिक (23 अरब डॉलर) होगा.

    दूरसंचार मंत्रालय ने सोमवार को वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय को सशर्त मंजूरी दे दी. इस विलय के बाद बनने वाली नई कंपनी देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी होगी.सूत्रों ने बताया, ‘‘दूरसंचार विभाग ने सोमवार को वोडाफोन-आइडिया के विलय को मंजूरी दे दी. अंतिम अनुमति के लिए उन्हें कुछ शर्तों का पालन करना होगा.’’ विभाग ने आइडिया सेल्युलर को वोडाफोन के स्पेक्ट्रम के लिए 3,926 करोड़ रुपये का नकद भुगतान करने और 3,342 करोड़ रुपये की बैंक गारंटी जमा कराने के लिए कहा है.

    ये भी पढ़ेंः वोडाफोन लेकर आया The Girl Rising Game, इसमें हैं 4 दिलचस्प लाइफ स्टोरी

    गौरतलब है कि विलय के बाद बनने वाली कंपनी देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी होगी जिसका मूल्य डेढ़ लाख करोड़ रुपये से अधिक (23 अरब डॉलर) होगा. नयी कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 35% होगी और इसके ग्राहकों की संख्या लगभग 43 करोड़ होगी.

    सिर्फ 600 रुपए में सरकार दे रही है ये ट्रेनिंग, लगेगी हजारों रुपए महीने की जॉब


    ये भी पढ़ेंः वोडाफोन के 299 के प्लान में पाइए अनलिमिटेड कॉलिंग और 2,400 रुपये का फायदा

    इस विलय से कर्ज के बोझ में दबी दोनों दूरसंचार कंपनियों को थोड़ी राहत मिलेगी क्योंकि बाजार में प्रतिस्पर्धा कम हो जाएगी. दोनों कंपनियों का कुल ऋण करीब 1.15 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है.

    Tags: Vodafone, Vodafone-Idea merger

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर