• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Vodafone Idea Q3 Results: वोडाफोन आईडिया के नेट लॉस में आई गिरावट, ARPU हुआ बेहतर

Vodafone Idea Q3 Results: वोडाफोन आईडिया के नेट लॉस में आई गिरावट, ARPU हुआ बेहतर

वोडाफोन आइडिया का रेवेन्यू दिसंबर तिमाही में 1 फीसदी बढ़कर 10894 करोड़ रुपये तक पहुंच गया.

वोडाफोन आइडिया का रेवेन्यू दिसंबर तिमाही में 1 फीसदी बढ़कर 10894 करोड़ रुपये तक पहुंच गया.

टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आईडिया (Vodafone-Idea) का चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में नेट लॉस 4532 करोड़ रुपये रहा.

  • Share this:

    नई दिल्ली. टेलिकॉम सेक्टर की कंपनी वोडाफोन आईडिया (Vodafone Idea) ने अपने तीसरी तिमाही के नतीजे पेश कर दिए हैं. कंपनी का चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में नेट लॉस 4532 करोड़ रुपये रहा. हालांकि कंपनी के रेवेन्यू में मामूली इजाफा हुआ है.

    सितंबर तिमाही में हुआ था 7218.5 करोड़ रुपये का घाटा 
    कंपनी को सितंबर तिमाही में 7218.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. तीसरी तिमाही में कंपनी के घाटे में यह कमी इंडस टावर्स में अपनी 11.5 फीसदी हिस्सेदारी 2118.9 करोड़ रुपये में बेचने के कारण आई है. इंडस टावर्स भारती इंफ्राटेल के साथ मर्ज हो गया था, जिसके बाद कंपनी ने इसमें अपनी हिस्सेदारी बेच दी थी.

    ये भी पढ़ें- Paytm यूजर्स को झटका! अब क्रेडिट कार्ड से वॉलेट में पैसे ऐड करना हुआ और महंगा

    कंपनी का ARPU हुआ बेहतर
    दिसंबर तिमाही में कंपनी को प्रति यूजर से प्राप्त रेवेन्यू यानी एआरपीयू (ARPU) में सुधार आया है और यह प्रति यूजर 121 रुपये हो गया है, जबकि सिंतबर तिमाही में यह 109 रुपये ही था. साथ ही कंपनी को टैक्स और इंटरेस्ट चुकाने से पहले यानी EBITDA मार्जिन तिमाही आधार पर 3.2 फीसदी बढ़कर 4286.2 करोड़ रुपये रहा. वहीं कंपनी के ऑररेटिंग मार्जिन 80 बेसिस प्वाइंट सुधरकर 39.3 फीसदी पर पहुंच गया. खर्च में कटौती के उपायों और रेवेन्यू बढ़ने से कंपनी के EBITDA में सुधार हुआ है.

    ये भी पढ़ें- Paytm ने SBI कार्ड के साथ मिलकर लॉन्च किए दो क्रेडिट कार्ड, मिलेगा अनलिमिटेड कैशबैक

    रेवेन्यू में 1 फीसदी का इजाफा
    कंपनी का रेवेन्यू दिसंबर तिमाही में 1 फीसदी बढ़कर 10894 करोड़ रुपये तक पहुंच गया. कंपनी ने कहा कि उसके रेवेन्यू में बढ़ोतरी नए 4जी कनेक्शन बढ़ने और सर्विस क्वालिटी में सुधार के कारण आया है. कंपनी ने बताया कि उसके बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने डेट और इक्विटी के जरिए 25 हजार करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी दे दी है. कंपनी ने इससे पहले 4 हजार करोड़ रुपये कॉस्ट सेविंग का टार्गेट तय किया था, जिसमें कंपनी को दिसंबर तिमाही में 50 फीसदी टार्गेट प्राप्त करने में सफलता मिली है. हालांकि, तीसरी तिमाही में कंपनी का सब्सक्राइबर बेस 20 लाख कम होकर 26.98 करोड़ रह गया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज