Aadhaar को लेकर सरकार की बड़ी तैयारी, वोटर ID कार्ड से कर सकती है लिंक!

Aadhaar को लेकर सरकार की बड़ी तैयारी, वोटर ID कार्ड से कर सकती है लिंक!
आधार कार्ड

गुरुवार को लोकसभा (Loksabha) में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने जवाब दिया. पहले ही कई सरकारी योजनाओं से आधार को लिंक करना अनिवार्य कर दिया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. आधार कार्ड और वोटर ID कार्ड (Aadhar-Voter Id Linking) से जोड़ने को लेकर ​केंद्र सरकार बड़ा फैसला ले सकती है. कानूनी मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने इस संबंध में गुरुवार को संसद में यह जानकारी दी. उन्होंने यह जानकारी लोकसभा (Loksabha) में पूछे गए एक सवाल के जवाब में दी. बता दें कि वर्तमान में आधार कार्ड (Aadhaar Card) को बैंक अकाउंट, पैन कार्ड, राशन कार्ड, गैस सब्सिडी समेत अन्य सरकार स्कीम्स से लिंक करना अनिवार्य कर दिया गया है. सरकार ने पहले ही साफ कर दिया है कि अगर कोई व्यक्ति किसी भी सरकारी स्कीम्स का लाभ लेता है तो उन्हें आधार कार्ड से लिंक कराना अनिवार्य होगा.

पूछे गए ये सवाल
गुरुवार को संसंद में आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड (Voter Id Card) को लेकर कई सवाल पूछे गए, जिनके बारे में सरकार ने जवाब दिया. सबसे पहले सवाल किया गया कि क्या चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने सरकार को आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड से लिंक करने का प्रस्ताव दिया है? अगर ऐसा है तो सरकार इस पर विचार कर रही है या नहीं. क्या सरकार इस बात पर विचार कर रही है कि ऐसे कदम उठाते समय नागरिकों के व्यक्तिगत डेटा को कैसे सुरक्षित किया जाएगा. लोकसभा में एक सवाल यह भी पूछा गया कि वोटर्स की विश्वसनीयता के लिए और रिपीटीशन से बचने के लिए क्या किया जा रहा है?

यह भी पढ़ें: 6 करोड़ नौकरीपेशा को लगा झटका! EPFO ने प्रॉविडेंट फंड की ब्याज दरें घटाईं



रविशंकर प्रसाद ने दिया ये जवाब


लोकसभा में प्रश्नकाल (Question Hour in Loksabha) के समय पूछे गए इस सवाल के जवाब में कानूनी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने जवाब दिया कि किसी भी समस्या से मुक्त फ्री इलेक्टोरल रोल और आवेदनों के डुप्लीकेशन से बचने के लिए सरकार के सामने People, 1951 के संशोधन का प्रस्ताव आया है. इस संशोधन के बाद आधार कार्ड को इलेक्टोरल डेटा (Electoral Data) से लिंक किया जाएगा. चुनाव आयोग के इस प्रस्ताव पर सरकार विचार कर रही है.



लिंक किए जा चुके हैं 30 करोड़ से अधिक पैन-आधार
आपको याद दिला दें कि आधार और पैन को लिंक करने की अंतिम तारीख 31 मार्च 2020 है. इस संबंध में केंद्र सरकार ने हाल ही में जानकारी दी थी कि 27 जनवरी 2020 तक कुल 30 करोड़ 2 हजार 824 लोगों ने पैन-आधार लिंकिंग प्रक्रिया को पूरा कर लिया है. केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिहं ठाकुर ने संसद में यह जानकारी दी थी. उन्होंने बताया हैं कि पैन को आधार से जोड़ने का मकसद डुप्लीकेट पैन (Duplicate PAN Card) को छांटकर असली की पहचान करना है. संसद को बताया कि, सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने आधार और पैन कार्ड को लिंक करने की अंतिम तारीख बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दी है. इसके पहले यह तारीख 31 दिसंबर 2019 थी.

यह भी पढ़ें: 43 लाख लोगों को मिलेंगे 36 हजार रुपये सालाना, आप ऐसे ले सकते हैं फायदा

85 फीसदी बैंक अकाउंट भी आधार से लिंक
एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने संसद को बताया हैं कि 24 जनवरी 2020 तक 85 फीसदी सेविंग और करंट बैंक खातों को आधार से लिंक किया जा चुका हैं. साथ ही, 31 दिसंबर 2019 तक National Payments Corporation of India (NCPI) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 59.15 करोड़ रुपे कार्ड बैकों ने जारी किए है.

यह भी पढ़ें: बैंक यूनियन ने फिर किया हड़ताल का ऐलान! मार्च के अंत में 3 दिन बंद रहेंगे Bank
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading