Covid के बढ़ते मामलों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इंडस्ट्री से कहा- 'Wait & Watch'...

Finance minister Nirmala Sitharaman

Finance minister Nirmala Sitharaman

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (finance minister Nirmala Sitharaman) ने कोरोना से प्रभावित उद्योग जगत को सरकारी समर्थन का भरोसा दिया है. निर्मला सीतारमण ने उद्योग जगत से आग्रह किया है कि कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर के बीच स्थिति का आकलन करने के लिए अगले कुछ दिनों तक प्रतीक्षा करें और देखें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 10:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में कोरोना के मामले (Corona cases) तेजी से बढ़ते ही जा रहे हैं. महाराष्ट्र, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश समेत 11 राज्यों में हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. इन राज्यों में रिकॉर्ड संख्या में लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं. कोरोना संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 84.5 प्रतिशत रह गई है. ऐसे में चारों तरफ पर चिंता का माहौल है. उद्योग जगत (Industry) में भी हलचल है. इसे देखते हुए अब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (finance minister Nirmala Sitharaman) ने कोरोना से प्रभावित उद्योग जगत को सरकारी समर्थन का भरोसा दिया है. निर्मला सीतारमण ने फिक्की के वर्चुअल कार्यक्रम में उद्योग जगत से आग्रह किया है कि कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर (Coronavirus Second Wave) के बीच स्थिति का आकलन करने के लिए अगले कुछ दिनों तक प्रतीक्षा करें और देखें. उन्होंने वेट एंड वाॅच (Wait and Watch) की नीति अपनाने के लिए कहा है.

इस लड़ाई में सरकार और उद्योग जगत साथ हैं

सीतारमण ने कहा कि हम चाहते हैं कि उद्योग जगत इन परिस्थितियों पर बारीक नजर रखे. इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में सरकार और उद्योग जगत साथ हैं. सीतारमण ने कहा कि नए टीकाकरण दिशानिर्देशों के साथ और कोविड मामलों- परीक्षण, ट्रैक, उपचार, कोविद -19 प्रोटोकॉल और टीकाकरण में अपनाई गई पांच गुना ज्यादा रणनीति अपनाई गई है. यह आश्वासत करती है कि इससे आने वाले समय में राहत मिलेगी.

ये भी पढ़ें- Post Office के इस स्कीम में करें निवेश, 10 साल में ही आपका पैसा होगा डबल, जानें डिटेल्स
औद्योगिक इकाइयों को भी ऑक्सीजन की सप्लाई

उद्योग संगठन फिक्की के साथ वर्चुअल बैठक में सीतारमण ने कहा कि इस तिमाही के मूल्यांकन से पहले कुछ और दिन काफी सावधानी पूर्वक परिस्थितियों को भांप लें. उन्होंने कहा कि कोरोना की शुरुआत से ही हॉस्पिटेलिटी, उड्डयन, पर्यटन व होटल जैसे क्षेत्र बड़ी कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं, इसलिए सरकार ने इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम में इन सेक्टर को भी शामिल कर दिया है. वित्त मंत्री ने उद्योग जगत से कहा कि ऑक्सीजन की मेडिकल मांग पूरी होते ही औद्योगिक इकाइयों को भी ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू हो जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज