लाइव टीवी

कोरोना कहर के बीच दुनिया की इस बड़ी कंपनी ने किया 1.5 लाख लोगों को नौकरी देने का ऐलान, साथ में मिलेगा बोनस

News18Hindi
Updated: March 20, 2020, 12:42 PM IST
कोरोना कहर के बीच दुनिया की इस बड़ी कंपनी ने किया 1.5 लाख लोगों को नौकरी देने का ऐलान, साथ में मिलेगा बोनस
कारोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बीच फ्रेशर्स के ल‍िये नौकरी के मौका है.

वालमॉर्ट की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि स्थायी कर्मचारियों को 300 डॉलर (करीब 22 हजार रुपये) और अस्थायी कर्मचारियों को 150 डॉलर (करीब 11 हजार रुपये) मिलेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2020, 12:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दुनिया में सबसे ज्यादा नौकरी देने वाली कंपनी वालमॉर्ट (Walmart) ने 1.5 लाख लोगों को नौकरी देने का ऐलान किया है. क्योंकि कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से अमेरिका में ऑनलाइन और ऑफलाइन सेल्स में बड़ा इजाफा हुआ है. इससे पहले अमेजन ने भी एक लाख लोगों को नौकरी देने का ऐलान किया. वालमॉर्ट की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि स्थायी कर्मचारियों को 300 डॉलर (करीब 22 हजार रुपये) और अस्थायी कर्मचारियों को 150 डॉलर (करीब 11 हजार रुपये) मिलेंगे. आपको बता दें कि वालमॉर्ट, रिटेल सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनी है, जो पूरी दुनिया में कारोबार करती है. वालमॉर्ट को दुनिया की सबसे बड़ी प्राइवेट कंपनी (कर्मचारियों की संख्या के हिसाब से) का रुतबा हासिल है. वालमॉर्ट की स्थापना 2 जुलाई 1962 को अमेरिका में हुई थी.

शेयर बाजार में भारी गिरावट के बीच भी वालमॉर्ट का शेयर रिकॉर्ड ऊंचाई पर- गुरुवार को जहां कोरोना वायरस के डर के चलते अमेरिका में ऐतिहासिक ट्रेडिंग फ्लोर को बंद करना पड़ा. वहीं, अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज एनवाईएससी (NYSE: The New York Stock Exchange) पर वॉलमार्ट का शेयर अपने अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है. दरअसल कोरोना महामारी की वजह से कंपनी की सेल्स में तेजी से इजाफा हो रहा है. इसी का असर शेयर पर पड़ा.

ये भी पढ़ें-ढाई महीने में LIC के डूबे 2 लाख करोड़ रुपये, निवेशकों की चिंता बढ़ी



भारत में छोटे कारोबारियों को ट्रेनिंग देगी वॉलमार्ट- अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट (Walmart) ने हाल में ऐलान किया था कि वो भारत में अगले 5 साल में 25 इंस्टीट्यूट खोलेगी,​ जिसमें सूक्ष्म, लघु एवं मध्य उद्यम सेक्टर (MSME Sector) के करीब 50,000 उद्यमियों को ट्रेन किया जाएगा. 'वॉलमार्ट वृद्धि सप्लायर डेवलपमेंट प्रोग्राम' के तहत ये इंस्टीट्यूट देशभर में फैले होंगे. इन इंस्टीट्यूट को उन जगहों रणनीतिक रूप से बनाया जाएगा जो उत्पादन क्लस्टर के करीब हों. हालांकि, इस अमेरिकी रिटेल कंपनी ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी कि वो इस प्रोग्राम के लिए कुल कितनी राशि खर्च करेगी.



लेकिन, कंपनी ने यह जरूर कहा कि इसके लिए लोकल सोर्सिंग (Local Sourcing by Walmart) की भी मदद ली जाएगी. वर्तमान में, वॉलमार्ट के लिए भारत दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा सोर्सिंग हब है, जहां से वॉलमार्ट 14 वैश्विक बाजार में ऑपेरशन करता है. इनमें चीन , अमेरिका, मेक्सिको और कनाडा जैसे देश हैं.

ये भी पढ़ें-जानिए कोरोना से लड़ाई में अमेरिका समेत दुनिया के बड़े देश कितना कर रहे है खर्च

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 20, 2020, 12:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading