Home /News /business /

want the best workout results increase your strength and stamina with proper hydration nodvkj

वर्कआउट का बेहतरीन नतीजा चाहिए? सही हाइड्रेशन से बढ़ाएं अपनी ताकत और क्षमता

हाइड्रेशन के लिए सिर्फ पानी पीना भर जरूरी नहीं होता है. शरीर को इलेक्ट्रोलाइट्स की जरूरत होती है.

हाइड्रेशन के लिए सिर्फ पानी पीना भर जरूरी नहीं होता है. शरीर को इलेक्ट्रोलाइट्स की जरूरत होती है.

हाइड्रेशन के बारे में आम राय है कि पानी पीने के साथ ही आपकी जरूरत पूरी हो जाती है, लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं है. पानी और नमक को शरीर में घुलने और असर दिखाने में वक्त लगता है. अगर आप बहुत ज्यादा कार्डियो करते हैं, तो आप वर्कआउट से पहले ज़्यादा पानी पीने से बचते हैं.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. सेहत के लिए पसीना बहाना और वो भी व्यायाम के जरिए अच्छा होता है. इसके साथ ही शरीर के लिए जरूरी हाइड्रेशन का भी ख्याल रखना होगा. आप जो भी वर्जिश कर रहे हैं, उसके नतीजे तभी दिखेंगे जब आपका हाइड्रेशन लेवल ठीक रहेगा. जब आप व्यायाम करते हैं, तो शरीर से पसीना निकलत है जिससे तापमान नियंत्रित रहता है. जितनी ज़्यादा मेहनत आप करते हैं उतना ही ज़्यादा पसीना निकलता है. पसीने की ये बूंदे आपकी त्वचा को नमी देती हैं और तापमान नियंत्रित करता है.

    हालांकि, अगर आप इस प्रक्रिया के दौरान शरीर में पानी की मात्रा को लेकर एहतियात नहीं रखते हैं, तो शायद इस वजह से आपके शरीर से बहुत सारा फ्लूएड निकल जाए. फ्लूएड निकलने की वजह से डिहाइड्रेशन हो सकता है, जो पसीने और तापमान नियंत्रित करने की क्षमता को प्रभावति कर सकता है. वर्कआउट के बाद तरो-ताजा महसूस करने के बजाय आप खुद को बेहद थका हुआ पाएंगे. आपको वर्कआउट के बाद थकान के बाद प्यास भी लगेगी, लेकिन अक्सर बहुत थके होने पर हमें प्यास का कम और भूख का ज्यादा अहसास होता है. डिहाइड्रेशन की वजह से आपकी वर्ज़िश करने की क्षमता भी बुरी तरीके से प्रभावित होती है. अगर शरीर में हाइड्रेशन का स्तर सही न हो, तो आप ऐसे व्यायाम नहीं कर पाएंगे जिनमें ज्यादा ताकत लगती है. कुछ ही मिनट में आपको थकान महसूस होने लगेगी. डिहाइड्रेशन की वजह से वर्जिश करने की क्षमता 45% तक कम हो सकती है.

    इस वजह से, न सिर्फ आप ज्यादा थके हुए महसूस करेंगे, बल्कि आप वर्कआउट भी ठीक से नहीं कर पाएंगे. किसी भी तरह से यह आपके लिए घाटे का ही सौदा है. हालांकि, कुछ ऐसे तरीके हैं जिनसे आप बहुत आसानी से इससे उबर सकते हैं. आप इन कुछ आदतों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर लें. इन्हें करना ज्यादा मुश्किल भी नहीं है बस अपने वर्कआउट से पहले और बाद में कुछ बातों का ध्यान रखना है और वर्जिश के दौरान हमेशा अपनी पानी की बोतल साथ रखें.

    वर्जिश करने से पहले और बाद में हाइड्रेशन का रखें ख्याल
    हाइड्रेशन के बारे में आम राय है कि पानी पीने के साथ ही आपकी जरूरत पूरी हो जाती है, लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं है. पानी और नमक को शरीर में घुलने और असर दिखाने में वक्त लगता है. अगर आप बहुत ज्यादा कार्डियो करते हैं, तो आप वर्कआउट से पहले ज़्यादा पानी पीने से बचते हैं. अगर आप जानना चाहते हैं कि वर्कआउट से कितनी देर पहले पानी पीना ठीक रहता है, तो इसके लिए अपने साथ कुछ दिन तक प्रयोग करें- ज्यादातर लोगों के लिए वर्कआउट से 45 मिनट पहले खुद को हाइड्रेट करना ठीक रहता है. वर्जिश करने के दौरान भी आपको हर थोड़ी-थोड़ी देर पर पानी पीना चाहिए न कि एक ही बार में गटागट पूरा गिलास खाली करना चाहिए. वर्कआउट के बाद देखें कि आपको कितनी प्यास लगी है और जब तक प्यास मिट न जाए पानी पीएं!

    अपने साथ हमेशा रखें पानी की बोतल
    अगर आप दौड़ते हैं, जॉगिंग करते हैं, तो अपने साथ हमेशा पानी पीने के लिए बोतल रखे. आम तौर पर जिम, योगा स्डूडियो जैसी जगहों पर वॉटर कूलर होते हैं, लेकिन ज़्यादातर लोग साथ में कप या गिलास नहीं लेकर चलते हैं. ऐसे में कई बार आप ध्यान नहीं देते हैं कि बहुत देर तक आप बिना पानी पीए ही रहते हैं. अगर आप पानी की बोतल साथ लेकर चलेंगे, तो खुद-ब खुद हर थोड़ी देर में दो-चार घूंट पानी पीएंगे.

    फ्लूएड बैलेंस जरूरी है, समझें इसके पीछे की वजह
    हाइड्रेशन के लिए सिर्फ पानी पीना भर जरूरी नहीं होता है. शरीर को इलेक्ट्रोलाइट्स की जरूरत होती है (सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम और दूसरे सभी खनिज), ताकि इलेक्ट्रल की गतिविधि शरीर के अंदर कोशिकाओं में सुचारू रूप से हो. शरीर में सही तरीके से रक्त प्रवाह, त्वचा में नमी बनाए रखना और आपके दिमाग और दूसरे अंगों के ठीक से काम करने के लिए यह बैलेंस ज़रूर है. बेहतर हाइड्रेशन के लिए सिर्फ़ अच्छी मात्रा में पानी पीना ही काफ़ी नहीं है. इसके लिए आपके शरीर में पानी के ज़रिए सही मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट्स का पहुंचना भी जरूरी है.

    मीठे से न प्यास बुझती है और न हाइड्रेशन की जरूरत पूरी होती है
    वर्कआउट के बाद आप जो भी पीएं, उसमें पानी के साथ फ्लूएड और इलेक्ट्रोलाइट्स की सही मात्रा होनी चाहिए. कसरत करने के दौरान पसीने के साथ शरीर में मौजूद नमक भी बाहर निकलता है. वर्कआउट के बाद बहुत से लोगों को कुछ मीठा खाने का मन होता है. अगर आप भी वर्जिश के बाद मीठा खाते हैं, तो तुरंत ऐसा करना बंद कर दें. इसकी वजह है कि चीनी या शुगर डिहाइड्रेशन का कारण बन सकते हैं और कैलरी की मात्रा बढ़ा सकते हैं! किडनी शरीर से शर्करा या शुगर को बाहर निकालती है और यह पेशाब के ज़रिए ही बाहर निकलता है. पेशाब से शुगर के साथ आपके शरीर के लिए जरूरी फ्लूएड और नमक भी बाहर निकल जाते हैं. इससे भी बुरी एक और स्थिति होती है, कई बार प्यास के साथ कुछ मीठा या शुगर ड्रिंक्स लेने का मन करता है – यह तलब इतनी ज़्यादा होती है कि बहुत से लोग खुद को रोक भी नहीं पाते हैं. अगली बार जब भी आपको हाई शुगर ड्रिंक लेने का मन करे, तो एक हिसाब लगाएं. अपने मन में सोचें कि एक हाई शुगर ड्रिंक से आप जितनी कैलरी जना करेंगे, उतनी ही कैलरी में आप कितनी सारी दूसरी मनपसंद चीजें खा सकते हैं!

    शरीर के लिए जरूरी इलेक्ट्रोलाइट्स का रखें ध्यान
    भारत में, हममें से शायद ही कोई ऐसा हो जिसने डिहाइड्रेशन के मरीजों को न देखा हो. डिहाइ़्रेशन जितनी आम समस्या है उतना ही कॉमन है हर घर के मेडिकल बॉक्स में Electral का पैकेट हो. डिहाइड्रेशन को हराने के लिए आपको ज़्यादा कुछ नहीं करना है, सिर्फ़ सही मात्रा और अनुपात वाले इलेक्ट्रोलाइट्स का इस्तेमाल करना है. भारत में, यह फॉर्म्युला साल 1972 से ही – Electral के तौर पर मौजूद है.

    निष्कर्ष
    डिहाइड्रेशन से दूर रहने का सबसे आसान तरीका है कि दिन भर में ज़रूरी मात्रा में पानी पीएं. अगर आपको सुबह वर्कआउट करने की आदत है, तो उठने के साथ पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं. वर्जिश शुरू करने से पहले अच्छी मात्रा में पानी पीना चाहिए, ताकि हाइड्रेट रह सकें. साथ ही, दिन भर इसका ख्याल रखें कि फ्लूएड बैलेंस बना रहे.

    अगर आप शाम में वर्कआउट करते हैं, तो दिन के दौरान इलेक्ट्रोलाइट्स और फ़्लूएड बैलेंस का ध्यान रखें. वर्ज़िश के दौरान काफी पसीना निकलता है, इसलिए उससे पहले और बाद में सही मात्रा में पानी पीना जरूरी होता है.

    हालांकि, कुछ दिन ऐसे हो सकते हैं जब आप इतने बिज़ी हों कि आपके पास सही से पानी पीने और फल खाने का वक्त भी न हो. ऐसे दिनों के लिए डब्ल्यूएचओ प्रमाणित ओआरएस, जैसे कि Electral है न! यह आपके हाइड्रेशन को दुरुस्त रखेगा और आपको डिहाइड्रेशन से भी बचाएगा.

    #Partnered 

    Tags: Health, Hydrationforhealth

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर