WazirX मीम करेंसी शिबा इनु खरीदने वालों के नुकसान की करेगा भरपाई, जानें कैसे हुआ था यूजर्स को घाटा

WazirX के यूजर्स को ि‍शिबा इनु क्‍वाइन की खरीदारी में नुकसान उठाना पड़ा थ्‍ज्ञा क्‍योंकि ये ज्‍यादा कीमत पर लिस्‍ट हुई थी.

WazirX के यूजर्स को ि‍शिबा इनु क्‍वाइन की खरीदारी में नुकसान उठाना पड़ा थ्‍ज्ञा क्‍योंकि ये ज्‍यादा कीमत पर लिस्‍ट हुई थी.

क्रिप्‍टोकरेंसी शिबा इनु (Shiba Inu) का प्राइस वजीर-एक्‍स (WazirX) एक्सचेंज में गड़बड़ी के कारण ज्‍यादा वैल्यू पर सूचीबद्ध (List) हुआ था. इससे यूजर्स को नुकसान उठाना पड़ा था. क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज (Cryptocurrency Exchange) यूजर्स को हुए इस नुकसान की भरपाई करेगा.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. क्रिप्‍टोकरेंसी एक्सचेंज वजीर-एक्‍स (WazirX) ने उन यूजर्स के नुकसान की भरपाई करने का वादा किया है, जिन्हें मीम करेंसी शिबा इनु (SHIB) को खरीदने में नुकसान उठाना पड़ा था. शिबा इनु एक्सचेंज पर 13 मई 2021 को अपनी वास्तविक वैल्यू (Actual Value) से ज्‍यादा कीमत पर सूचीबद्ध (List) हुई थी. इससे यूजर्स को नुकसान उठाना पड़ा था. इसी दिन इथेरियम (Ethereum) ब्लॉकचेन के फाउंडर वितालिक ब्युटरिन ने भारत के कोविड-क्रिप्‍टो रिलीफ फंड (Covid-Crypto Relief Fund) में 50 लाख करोड़ से अधिक शिबा और 500 ईथर क्‍वाइन दिए थे.

खामी के कारण डिपॉजिट और विद्ड्रॉल लाइव होने में लगा समय

शिबा का प्राइस इसकी लिस्टिंग के एक घंटे के अंदर ही 1 रुपये से नीचे आ गया था. ऐसी रिपोर्ट है कि लिस्टिंग के समय शिबा का प्राइस 0.00002 डॉलर था, जो लगभग 0.0016 रुपये होता है. हालांकि, वजीर-एक्‍स ने प्राइस को 3 रुपये पर लिस्ट किया था. बहुत से यूजर्स ने प्राइस में इस अंतर की वजह से नुकसान की शिकायत की थी. वजीर-एक्‍स ने बताया कि शिब के लाइव होने पर गड़बड़ी के कारण इसके डिपॉजिट और विद्ड्रॉल को लाइव होने में ज्‍यादा समय लगा था. इसके साथ ही SHIB के मार्केट में लिक्विडिटी की भी कमी हो गई थी. अधिक लोगों के ट्रेडिंग करने और लिक्विडिटी की कमी के कारण SHIB के प्राइसेज में तेजी आई.

ये भी पढ़ें- भारत को तगड़ा झटका! हाथ से निकला ईरान का फरजाद-बी गैस फील्ड, ONGC विदेश लिमिटेड ने की थी खोज
यूजर्स को मिलेंगे नुकसान के बराकर वजीर-एक्‍स यूटिलिटी टोकन

वजीर-एक्‍स ने बताया है कि हमारी टीम ने जल्द ही गड़बड़ी को ठीक कर दिया था. हमारे कस्टमर्स से आ रहे नए डिपॉजिट के अनुसार SHIB का प्राइस ऑटो एडजस्ट किया गया था. वजीर-एक्‍स के फाउंडर और सीईओ निश्चल शेट्टी ने ट्वीट के जरिये बताया कि अधिक प्राइस पर शिब खरीदने और इसे नहीं बेचने वाले लोगों के नुकसान की भरपाई एयरड्रॉप डब्‍ल्‍यूआरएक्‍स के जरिए की जाएगी. नुकसान उठाने वाले यूजर्स को अगले चार महीनों के दौरान वजीर-एक्‍स यूटिलिटी टोकन मिलेंगे. ये टोकन यूजर्स को हुए नुकसान के बराबर होंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज