भीषण गर्मी का दौर अगले 48 घंटे तक जारी रहेगा, जानें कब तक होगी बारिश

दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में भीषण गर्मी का दौर अगले 48 घंटें तक जारी रहेगा. मौसम की जानकारी देने वाली प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक, दिल्लीवालों को गर्मी से फिलहाल राहत नहीं मिलेगी.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 11:43 AM IST
भीषण गर्मी का दौर अगले 48 घंटे तक जारी रहेगा, जानें कब तक होगी बारिश
दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में भीषण गर्मी का दौर अगले 48 घंटें तक जारी रहेगा. मौसम की जानकारी देने वाली प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक, दिल्लीवालों को गर्मी से फिलहाल राहत नहीं मिलेगी.
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 11:43 AM IST
दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में भीषण गर्मी का दौर अगले 48 घंटें तक जारी रहेगा. मौसम की जानकारी देने वाली प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक, दिल्लीवालों को गर्मी से फिलहाल राहत नहीं मिलेगी. राजस्थान और पाकिस्तान से आने वाली गर्म हवाओं से तापमान में बढ़ोतरी होगी. दिल्ली-एनसीआर के लोगों को राहत पाने के लिए इस साल लंबा इंतजार करना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें: 121 रुपये रोज जमा करें LIC की कन्यादान पॉलिसी में, बेटी की शादी में मिलेंगे 27 लाख

उमस से बढ़ाएगी परेशानी
स्काईमेट की रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिमी कोस्ट यानी अरब सागर में लो-प्रेशर एरिया बनाने की संभावना है. इससे दिल्ली और एनसीआर एरिया में उमस से लोगों की परेशानी बढ़ सकती है. उमस और तापमान में बढ़ोतरी से गरज के साथ छींटे पड़ सकती है. हालांकि तेज हवाओं का दौर जारी रहेगा और 12 जून तक दिल्ली और एनसीआर में आंधी तूफान के साथ बारिश हो सकती है.



29 जून तक पहुंचेगा मानसून
आमतौर पर दिल्ली में मानसून 29 जून को पहुंचता है. हालांकि स्काईमेट का अनुमान है कि दिल्ली में मानसून पहुंचने में 1 हफ्ते तक की देरी हो सकती है. अनुमानों के मुताबिक दिल्ली में मानसून सामान्य रहेगा और पूरे उत्तर-पश्चिमी हिस्से में भी मानसून सामान्य रहने की उम्मीद है. मानसून में देरी की वजह का बारिश की मात्रा कम या ज्यादा होने से कोई संबंध नहीं है लेकिन केरल में देरी से मानसून पहुंचने पर देश के अन्य हिस्से में इसे पहुंचने में देरी हो जाती है.
Loading...

ये भी पढ़ें: 6000 में शुरू करें ये बिज़नेस, 3 घंटे पढ़ाकर कमाएं 40 हजार रुपये महीना

एक हफ्ते की देरी से केरल पहुंचा मानसून
बता दें कि एक सप्ताह की देरी पर आखिरकार शनिवार को मानसून केरल के तट पर पहुंच गया. यह देश में चार महीने के बारिश सत्र की आधिकारिक घोषणा होती है. देश के लिए यह बहुत बड़ी राहत वाली खबर है क्योंकि पश्चिमी और दक्षिण भारत के कई हिस्सों में जल स्तर बहुत नीचे तक पहुंच गया है और देश भर के बड़े हिस्से में खेती पर भी बहुत दबाव है. केरल के तट पर पहुंचने से बहुत पहले 18 मई को ही यह दक्षिणी अंडमान सागर में पहुंच चुका था.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 9, 2019, 11:41 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...