मौसम विभाग ने इस राज्य के लिए जारी किया रेड अलर्ट, दिल्ली में भी हो सकती है हल्की बारिश

मुंबई में भारी बारिश
मुंबई में भारी बारिश

भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) ने अपने ताजा बुलेटिन में जानकारी देते हुए बताया है कि मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ, कोंकण, गोवा, आंध्र प्रदेश के तटीय हिस्से, पूर्वी उत्तर प्रदेश, अंडमान और नीकोबार द्वीप समूह, गुजरात, तेलंगाना, कर्नाटक और तिमलनाडु के कई हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2019, 11:55 AM IST
  • Share this:
भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) ने अपने ताजा बुलेटिन में जानकारी देते हुए बताया है कि मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ, कोंकण, गोवा, आंध्र प्रदेश के तटीय हिस्से, पूर्वी उत्तर प्रदेश, अंडमान और नीकोबार द्वीप समूह, गुजरात, तेलंगाना, कर्नाटक और तिमलनाडु के कई हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है. इसके साथ ही मौसम विभाग ने मध्य महाराष्ट्र (Madhya Maharashtra) के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक अंडमान और निकोबार में बारिश के साथ ही तेज हवाएं चलेंगी. जिनकी स्पीड 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा तक की होगी. ओडीशा के कुछ हिस्सों में बिजली गिरने की संभावना है.

ऐसा रहेगा दिल्ली में मौसम
मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली और आसपास के इलाकों में बुधवार को आसमान में बादल छाए रहेंगे. कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश भी हो सकती है. अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 26 डिग्री के करीब रह सकता है.

ये भी पढ़ें: सरकार सस्ते में होम डिलीवरी करेगी दाल, प्याज और टमाटर!
देश में कहां कितनी हुई बारिश


मौसम विभाग के अनुसार पूरे देश में अब तक सामान्य से 4 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी है. सबसे ज्यादा बारिश मध्य भारत में रिकॉर्ड की गई है. मध्य भारत में सामान्य से 23 फीसद ज्यादा बारिश हुई है. इसके बाद दक्षिण भारत में सामान्य से 10 फीसद ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है. इसके विपरीत उत्तर-पूर्वी भारत और उत्तर-पश्चिमी भारत में क्रमशः जीरो से 18 व 8 फीसद कम बारिश रिकॉर्ड की गई है.

सितंबर में इतनी उमस सही नहीं
राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र (National Weather Forecasting Centre) की प्रमुख के. सथि देवी (K Sathi Devi) ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया है कि उत्तर-पश्चिमी मध्य प्रदेश में फिलहाल एक लो प्रेशर (निम्न दबाव) का क्षेत्र बना हुआ है. इसकी वजह से वहां भारी बारिश होने की संभावना बनी हुई है. मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार आने वाले समय में उमस में और इजाफा हो सकता है.

ये भी पढ़ें: कैबिनेट ने लिए दो बड़े फैसले! 11 लाख से ज्यादा लोगों पर होगा असर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज