लाइव टीवी

पीयूष गोयल ने कहा, फिर से तेजी के रास्ते पर चलने को तैयार है भारतीय अर्थव्यवस्था

भाषा
Updated: January 23, 2020, 6:38 PM IST
पीयूष गोयल ने कहा, फिर से तेजी के रास्ते पर चलने को तैयार है भारतीय अर्थव्यवस्था
भारत में निवेश करने को लेकर निवेशकों में काफी उत्साह

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री (Commerce and Industry Minister) पीयूष गोयल ने कहा, चीजें एक बार फिर से बेहतर होने लगी हैं और अब अर्थव्यवस्था (Economy) यहां से तेजी से आगे बढ़ने की तैयारी में है. गोयल ने कहा कि भारत में निवेश करने को लेकर निवेशकों में काफी उत्साह है.

  • Share this:
दावोस. केंद्रीय मंत्री (Union minister) पीयूष गोयल ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian economy) फिर से तेजी के रास्ते पर चलने को तैयार है. देश में निवेश करने को लेकर निवेशकों में काफी उत्साह है. गोयल ने गुरुवार को विश्व आर्थिक मंच (WEF) के वार्षिक सम्मेलन में एक सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार मुक्त व्यापार समझौते पर ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के साथ बातचीत करेगी. ब्रिटेन जनवरी के आखिर तक यूरोपीय संघ से अलग हो जाएगा.

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने कहा, चीजें एक बार फिर से बेहतर होने लगी हैं और अब अर्थव्यवस्था यहां से तेजी से आगे बढ़ने की तैयारी में है. गोयल ने कहा कि भारत में निवेश करने को लेकर निवेशकों में काफी उत्साह है.

ये भी पढ़ें: म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने पर मिलेगा ज्यादा मुनाफा, बजट में इससे जुड़े टैक्स में बड़े बदलाव की तैयारी

उन्होंने क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (RCEP) समझौते पर कहा कि यह एक 'असंतुलित व्यापार समझौता' था, जो कि आरसीईपी के उन सिद्धांतों पर खरा नहीं उतर रहा था जिनको लेकर 8 साल पहले हमने बात शुरू की थी. उद्योग मंत्री ने कहा कि RCEP देशों में से भारत के जापान और कोरिया समेत आसियान के 10 देशों के साथ द्विपक्षीय व्यापार समझौते हैं. हम ऑस्ट्रेलिया के साथ व्यापार समझौते पर बातचीत को खत्म करने के करीब हैं और अगले 6-8 महीने में हम उसके साथ द्विपक्षीय व्यापार साझेदारी कर सकते हैं.

उन्होंने कहा, यदि आरसीईपी मौजूदा स्वरूप में होता तो यह एक तरह से भारत और चीन के बीच मुक्त व्यापार समझौता होता. मुझे नहीं लगता है कि भारत तब तक इसके लिए तैयार होगा जब तक कि हमें खुली सोच वाली सरकार, अच्छी पारदर्शिता, बेहतर नियामकीय कामकाज और भारतीय उत्पादों एवं सेवाओं को अधिक बाजार पहुंच जैसी चीजें देखने को नहीं मिलती हैं.

ये भी पढ़ें:
पेंशन पाने वालों के लिए बड़ी खबर! बजट में टैक्स छूट बढ़कर हो सकती हैं 50 हजार रुपयेअब बिना डॉक्यूमेंट के आधार में अपडेट कर सकते हैं ये एड्रेस, देनी होगी 50 रुपये फीस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 4:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर