कोरोना काल में बंगाल में भी बदलेगी बैंकों की टाइमिंग, SLBC ने सरकार से किया अनुरोध

बैंक में 4 घंटे होगा काम

बैंक में 4 घंटे होगा काम

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति (SLBC) ने बंगाल सरकार से अनुरोध किया है कि बैंकिंग कामकाज को सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक सीमित किया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 3:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति (SLBC) ने बंगाल सरकार से अनुरोध किया है कि बैंकिंग कामकाज को सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक सीमित किया जाए. इस समय बैंक छुट्टियों और महीने के दूसरी तथा चौथे शनिवार को छोड़कर सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक सेवाएं देते हैं. राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी (एसएलबीसी) की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई बैठक में मंगलवार को अहम निर्णय लिया गया.

पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य महाप्रबंधक और एसएलबीसी के संयोजक नवीन कुमार दास ने सरकार को लिखे पत्र में कहा कि कई सदस्य बैंकों को उनके कॉरपोरेट कार्यालयों ने सलाह दी है कि वे अपने संबंधित कार्य क्षेत्रों में कोविड संक्रमण की स्थितियों का जायजा लें और अपनी शाखाओं तथा कार्यालयों में 50 प्रतिशत तक उपस्थिति को प्रतिबंधित करने पर विचार करें.

Youtube Video


ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने मुफ्त अनाज देने का किया ऐलान, 80 करोड़ लोगों को जून तक फ्री में मिलेगा राशन 
दास ने कहा, कई बैंक सदस्यों ने प्रतिबंधित बैंकिंग घंटों को लागू करने के लिए हमसे संपर्क किया है, जैसा पिछले साल कोविड 19 संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए लागू किया गया था. इस समय संक्रमित कर्मचारियों की एक बड़ी संख्या को देखते हुए 50 प्रतिशत कार्यबल की उपलब्धता सुनिश्चित करना भी एक चुनौतीपूर्ण कार्य है.

उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति में छह घंटे के लिए पूर्ण बैंकिंग सेवाएं देना चुनौतीपूर्ण कार्य होगा. दास ने पत्र में कहा, हम आपसे आग्रह करेंगे कि बैंकिंग कारोबार के समय को कम से कम अगले दो हफ्तों के लिए सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक सीमित रखने पर विचार करें.

ये भी पढ़ें: LPG Cylinder: 5 किलो का रसोई गैस सिलेंडर हाथों हाथ ले जाएं घर, एड्रेस प्रूफ की भी नहीं पड़ेगी जरूरत



उत्तर प्रदेश में आज से 15 मई तक 10 बजे से 2 बजे तक बैंकिंग कामकाज होगा. चार बजे बैंक शाखाएं बंद हो जाएंगी. 50 फीसदी स्टाफ के साथ बैंकों में कामकाज होगा. बैंकों में ग्राहकों को केवल नकदी जमा, निकासी, चेक क्लीयरिंग और सरकारी लेनदेन जैसी न्यूनतम आवश्यक बैंकिंग सेवाएं ही प्रदान की जाएगी.

बता दें कि पिछले साल लॉकडाउन के पहले फेज में एसबीआई ने खाता खोलने, नकद निकासी, पासबुक प्रिंटिंग और करेंसी एक्सचेंज जैसी सर्विसेज पर प्रतिबंध लगा दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज